भारत पहुंचा खतरनाक जीका वायरस, WHO ने की 3 मामलों की पुष्टि

अहमदाबाद (27 मई): पिछले साल ब्राजील समेत कई दक्षिण अमेरिका के कई देशों में दहशत मचाने वाला खतरनाक जीका वायरस ने भारत में दस्तक दे दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गुजरात में 3 लोगों के जीका वायरस से पीड़ित होने की पुष्टि की है। भारत में इस वायरस के पाए जाने का ये पहला मामला है। तीनों ही मरीज अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के रहने वाले हैं।

WHO की वेबसाइट पर छपी रिपोर्ट में बताया गया है कि अहमदाबाद के बीजजे मेडिकल कॉलेज (BJMC) ने 10 से 16 फरवरी 2016 के बीच 93 ब्लड सैंपल इकट्ठे किए थे। इनमें से एक 64 साल के बुजुर्ग में जीका वायरस पाए गए। यह भारत में जीका वायरस के संक्रमण का पहला मामला है।

इसी तरह एक 34 साल की महिला के ब्लड सैंपल में भी जीका वायरस पाने की पुष्टि हुई है। महिला ने पिछले साल नवंबर में बीजेएमसी में ही एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया था। उस समय लिए गए उसके ब्लड सैंपल में जीका वायरस पाए जाने की पुष्टि हुई है। 22 साल की एक गर्भवती महिला भी जीका वायरस से पीड़ित है। महिला का इसी साल जनवरी में ब्लड सैंपल लिया गया था। उस समय महिला को 37 हफ्ते का गर्भ था।

आपको बता दें कि गुजरात सरकार ने मच्छरों से लड़ने और पूरे गुजरात को मलेरिया से मुक्त कराने के लिए मुहिम चलाई है। जिसकी शुरुआत अहमदाबाद से की गई। सरकार की कोशिश है कि वो गुजरात को साल 2022 तक मलेरिया मुक्त करा दे।