यह महिला करती थी ऐसा काम, जिसे जानकर हर कोई है हैरान

तिलक भारद्वाज, यमुनानगर (15 जुलाई): हरियाणा के यमुनानगर में पुलिस ने एक ऐसे शातिर गिरोह का भंडाफोड़ किया है, जो डॉक्टरों को हनी ट्रैप में फंसाता था और लाखों की वसूली करता था। अब तक गिरोह की सरगना ने 24 डॉक्टरों को अपने जाल में फंसाने का खुलासा किया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत, उसके पति, जीजा और एक अन्य महिला को गिरफ्तार कर लिया है।


गिरोह की सरगना और उसका पति अस्पतालों में फोर्थ क्लास के वर्कर्स के रूप में काम करते हैं और वहां ये शातिर महिला डॉक्टरों को अपने हुस्न के जाल में फंसाकर लूटती थी। आरोपी महिला डॉक्टर को किस करते हुए सेल्फी खींच लेती थी और फिर उसे ब्लैकमेल करती थी, जिसके बाद 5 से 10 हजार रुपए के बदले सेल्फी डिलीट कर दी जाती थी। आरोपी की मानें तो अब तक वो सिविल हास्पिटल के 24 डॉक्टरों को अपना शिकार बना चुकी है।


हर मामला सिर्फ किस और सेल्फी तक नहीं रुकता था। कई बार इस शातिर ठग की भोली सूरत के चक्कर में फंसकर पीड़ित डॉक्टर आरोपी से जिस्मानी संबंध बना लेते थे। इसके बाद शुरू होता था लाखों की वसूली का घिनौना खेल। आरोपी महिला जाल में फंस चुके डॉक्टर्स के खिलाफ रेप के झूठे केस दर्ज करवाती थी और केस वापस लेने के एवज़ में लाखों रुपए की वसूली करती थी।


गिरोह एक शख्स से बलात्कार का केस वापस लेने के एवज़ में 50 लाख रुपए की मांग कर रहा था। जब पुलिस को इस बात की खबर मिली तो पुलिस ने बकायादा जाल बिछाया और पैसों की लेनदेन के वक्त गिरोह के सदस्यों को रंगे हाथों धर दबोचा। जिस तरीके से और जिस प्रोफाइल के लोगों को ये गिरोह अपना शिकार बनाता था, उससे इस बात की भी उम्मीद जताई जा रही है कि आरोपियों से पूछताछ में कई बड़े खुलासे हो सकते हैं।