भारत US से खरीदेगा 145 हॉवित्जर, डिफेंस मिनिस्ट्री की मंजूरी

 

नई दिल्ली(26 जून): रक्षा मंत्रालय ने अमेरिका से हॉवित्जर तोप खरीदने के फैसले को मंजूरी दे दी।अमेरिका से 145 अल्ट्रा लाइट 'हॉवित्जर' तोप खरीदी जानी हैं। इसके लिए भारत को करीब 750 मिलियन डॉलर खर्च करने पड़ेंगे। 

मिनिस्ट्री ने 18 आर्टिलरी गन्स 'धनुष' के बल्क प्रोडक्शन को भी मंजूरी दे दी है। शनिवार को हुई मीटिंग में 18 प्रपोजल्स पर चर्चा हुई। डिफेंस खरीद से जुड़ी काउंसिल ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में मीटिंग की। डिफेंस मिनिस्ट्री के एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक हॉवित्जर तोपों की डिलेवरी भारत में होगी, जिससे ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट की पूरी बचत होगी। डीएसी ने तोपों के जल्द सप्लाय की बात कही है। हालांकि इसके लिए समयावधि अभी तय नहीं की जा सकी है। 

भारत हॉवित्जर तोपों को चीन बॉर्डर से लगे ऊंचाई वाले क्षेत्रों अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख में तैनात करना चाहता है।  

ये है हॉवित्जर की खासयित

- हॉवित्जर तोपें दूसरी तोपों के मुकाबले काफी हल्की हैं। इनको बनाने में काफी हद तक टाइटेनियम का इस्तेमाल किया गया है। 

- यह 25 किलोमीटर दूर तक बिल्कुट सटीक तरीके से टारगेट हिट कर सकती हैं। 

- चीन से निपटने में तो ये तोपें काफी कारगर साबित हो सकती हैं। भारत ये तोपें अपनी 17 माउंटेन कॉर्प्स में शामिल कर सकता है।