कोलकाता टेस्‍ट में मजबूत स्थिति में श्रीलंका, तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक बनाए 165/4 रन

कोलकाता (18 नवंबर): भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट में श्रीलंका धीरे-धीरे मजबूत स्थिति में पहुंचता जा रहा है। तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक श्रीलंका ने 4 विकेट के नुकसान पर 165 रन बना लिए हैं। इस तरह पहली पारी में श्रीलंका भारत से महज 7 रन पीछे है जबकि अभी उसके 6 विकेट गिरने बाकी हैं। इससे पहले भारत की पूरी टीम पहली इनिंग में 172 रन पर ऑलआउट हो गई थी।

तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक दिनेश चांडीमल- 13 और निरोशन डिकवेला- 14 क्रीज पर नबाद थे। श्रीलंका की ओर से करुणारत्ने- 8, सदीरा समरविक्रमा- 23, थिरिमाने- 51 और एंजेलो मैथ्यूज- 52 रन बनाकर आउट हुए। भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव ने 2-2 विकेट लिए।

इससे पहले पूरी भारतीय टीम 172 रन पर ऑलआउट हो गई थी।  मैच के तीसरे दिन भारतीय टीम ने आज पांच विकेट पर 74 रन से आगे खेलना शुरू किया और पूरी टीम 59.3 ओवर में 172 रन बनाकर आउट हो गई। भारतीय की ओर से चेतेश्‍वर पुजारा ने सर्वाधिक 52 रन बनाए। जबकि ऋद्धिमान साहा ने 29 रन का योगदान दिया। रवींद्र जडेजा 22, भुवनेश्‍वर कुमार 13, मो. शमी 24 रन बनाकर आउट हुए। वहीं उमेश यादव 6 रन बनाकर नाबाद रहे। जबकि केएल राहुल- 0, शिखर धवन 8, कोहली 0, रहाणे 4 और रविचंद्रन अश्विन 4 रन बनाकर आउट हुए थे। श्रीलंका के लिए सुरंगा लकमल ने सर्वाधिक चार विकेट लिए। वहीं लाहिरु गमागे, दासुन शनाका और दिलरुवान परेरा के खाते में दो-दो विकेट आए।

मैच में टीम इंडिया फिलहाल मुश्किल में फंसी नजर आ रही है। वैसे, तीन टेस्‍ट की सीरीज में टीम इंडिया को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. इस के पीछे कारण भी हैं। टीम इंडिया ने इस साल जुलाई-अगस्त में श्रीलंका को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 के एकतरफा अंतर से हराया था। रिकॉर्ड भी भारतीय टीम के पक्ष में है। भारतीय टीम ने अब तक श्रीलंका से अपनी सरजमीं पर एक भी टेस्ट मैच नहीं गंवाया है। एक बार पहले भी भारत, श्रीलंका के खिलाफ स्वदेश में क्लीन स्वीप (1993-94 में) कर चुका है। 

भारत अगर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में श्रीलंका का सूपड़ा साफ करने में सफल रहता है तो उसकी घरेलू सरजमीं पर जीत की संख्या 100 पर पहुंच जाएगी और यह उपलब्धि हासिल करने वाला वह ऑस्ट्रेलिया (234) और इंग्लैंड (212) के बाद केवल तीसरा देश होगा। भारत ने अब तक अपनी सरजमीं पर 261 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से 97 में उसे जीत और 52 में हार मिली है जबकि 111 मैच ड्रॉ और एक टाई रहा है। अभी स्वदेश में सर्वाधिक जीत के रिकॉर्ड के मामले में भारत चौथे स्थान पर है। दक्षिण अफ्रीका ने अपनी सरजमीं पर 98 जीत दर्ज की हैं लेकिन उसे दिसंबर के आखिरी सप्ताह तक अपनी धरती पर कोई टेस्ट मैच नहीं खेलना है।