इंदौर T-20: भारत ने श्रीलंका को 88 रनों से हराया, सीरीज पर 2-0 से बनाया अजेय बढ़त

नई दिल्ली (22 दिसंबर): इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेले गए दूसरे T-20 मुकाबले में भारत ने श्रीलंका को 88 रनों से हरा दिया है। भारत के 261 रनों के पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका की टीम महज रन बना सकी। श्रीलंका की पूरी टीम 17.2 ओवर में 172 रन बनाकर आउट हो गई। श्रीलंका की ओर से निरोशन डिकवेला- 25, उपुल थरंगा- 47, कुशल परेरा- 77, थिसारा परेरा- 0, एसाला गुणारत्ने- 0, सदीरा समरविक्रमा- 5, चतुरंगा डी सिल्वा- 1, अकिला दानंजय- 5, दुश्मंथा चमेरा- 3 बन बनाया। जबकि नुवान प्रदीप बिना खाता खेले हुए नाबाद रहे। भारत की ओर से युजवेन्द्र चहल-4, कुलदीप यादव- 3, हार्डिक पंड्या- 1 और  जयदेव उनादकत ने 1 विकेट लिए।

इस तरह भारत ने तीन T-20 मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है। इससे पहले बुधवार को बाराबती स्टेडियम में खेले गए पहले टी-20 मैच में भारत ने श्रीलंका को 93 रनों से हरा दिया था। भारत ने श्रीलंका के सामने जीत के लिए 181 रनों का लक्ष्य रखा था। श्रीलंकाई टीम लगातार विकेट खोती रही और 16 ओवरों में 87 रनों पर ही ढेर हो गई

इससे पहले श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया है। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 260 रन बनाया। भारत की ओर से कप्तान रोहित शर्मा और केएल राहुल ने शानदार शुरुआत की। भारत ने पहले 5 ओवर में ही 43 रन बनाए। कप्तान रोहित शर्मा ने मात्र 35 गेंदों में अपने T-20 करियर का दूसरा शतक पूरा किया। उन्होंने शतक तक पहुंचने में 11 चौके और 8 छक्के लगाए। रोहित शर्मा ने 43 गेंदों की अपनी पारी में 12 चौकों और 10 छक्कों की मदद से 118 रन बनाए। वहीं केएल राहुल 49 गेंदों का सामना करते हुए शानदार 89 रन बनाकर आउट हुए। जबकि हार्दिक पाण्डया ने 3 गेंदों का सामना करते हुए 10 रन बनाए। वहीं श्रेयस अय्यर बिना खाता खोले ही आउट हो गए।  एमएस धोनी ने ताबड़तोड़ 28 बनाया। मनीष पांडे 1 और  दिनेश कार्तिक 5 रन बनाकर नाबाद रहे।

आपको बता दें कि भारतीय क्रिकेट टीम ने बुधवार को बाराबती स्टेडियम में खेले गए पहले टी-20 मैच में श्रीलंका को 93 रनों से हरा दिया था। इसी के साथ भारत ने तीन टी-20 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है। भारत ने श्रीलंका के सामने जीत के लिए 181 रनों का लक्ष्य रखा था। श्रीलंकाई टीम लगातार विकेट खोती रही और 16 ओवरों में 87 रनों पर ही ढेर हो गई थी।