मेलबर्न में दिखा भारतीय बल्‍लेबाजों का दम, पहले दिन स्‍कोर 215/2

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (26 दिसंबर):  भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न में खेले जा रहे बॉक्सिंग डे टेस्‍ट के पहले दिन भारतीय बल्‍लेबाजों ने अपना का दमखम दिखाया। पहले दिन भारत ने 89 ओवर में दो विकेट गंवाकर 215 रन बनाए हैं। अपना पहला मैच खेल रहे मयंक अग्रवाल ने 76 रन की दमदार पारी खेली। जबकि दिन का खेल खत्‍म होने के वक्‍त चेतेश्‍वर पुजारा 68 रन और कप्‍तान कोहली 47 रन बनाकर नाबाद हैं। वहीं भारत ने आज मयंक और हनुमा विहारी के रूप में दो विकेट गंवाए हैं और ये विकेट पैट कमिंस ने अपने नाम किए।इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया। भारत की तरफ से ओपनिंग करने मैदान में उतरे हनुमा विहारी और मयंक अग्रवाल। दोनों ने सधी शुरआत करते हुए 40 की ओपनिंग साझेदारी की। हुनमा विहारी 19वे ओवर में 8 रन बनाकर कंमिंस का शिकार बने।

अपना पहला टेस्ट खेल रहे मयंक अग्रवाल ने शानदार बल्लेबाज़ी करते हुए अपना अर्धशतक 95 गेंदों में पूरा किया। वह टेस्ट क्रिकेट में डेब्‍यू के साथ अर्धशतक जमाने वाले भारत के सातवें बल्लेबाज बन गए। उनसे पहले शिखर धवन (187), पृथ्‍वी शॉ(134), केसी इब्राहिम (85), गावस्‍कर (65), अरूण लाल (63) और दिलावर हुसैन (59) ऐसा कर चुके हैं।

मयंक अग्रवाल ने चेतेश्वर पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 83 रनों की साझेदारी की। 123 रन के कुल स्कोर पर कमिंस ने लेग स्टम्पस पर डाली गई अपनी एक बाउंसर पर मयंक का संयम तोड़ दिया ,गेंद मयंक के ग्लब्स को छूते हुए पेन के हाथों में चली गई।  मयंक 76 रन बनाकर आउट हुए।  मयंक की पारी में 161 गेंद शामिल रही। इस दौरान मयंक ने आठ चौके और एक छक्का लगाया. मयंक ने चेतेश्वर पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 83 रनों की साझेदारी की।

मयंक अग्रवाल के आउट होने के बाद पुजारा को कोहली का साथ मिला।  पुजारा ने शानदार अर्धशतक जड़ दिया। यह पुजारा के टेस्ट करियर का 21वां अर्धशतक है,उन्होंने 152 गेंदों में फिफ्टी पूरी की।

वहीँ,ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सिर्फ पैट कमिंस को सफलता मिली। कमिंस ने हनुमा विहारी और मयंक अग्रवाल को पवेलियन का रास्ता दिखाया है। भारत को पहला झटका हनुमा विहारी के रूप में लगा, जब वह 40 रन के कुल स्कोर पर पैट कमिंस की गेंद पर एरॉन फिंच के हाथों कैच आउट हुए। इसके बाद 123 रन के कुल स्कोर पर कमिंस ने लेग स्टम्पस पर डाली गई अपनी एक बाउंसर पर मयंक का संयम तोड़ दिया। गेंद मयंक के ग्लब्स को छूते हुए पेन के हाथों में चली गई।

इसके बाद कोहली ने पुजारा का साथ दिया और दिन का खेल खत्म होने तक कोई और विकेट नहीं गिरने दिया। दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए 92 रनों की साझेदारी हो चुकी है।