ऋषभ पंत तोड़ सकते थे धोनी का ये रिकॉर्ड


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (8 दिसंबर): ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट में जहां भारतीय गेंदबाजों ने जबर्दस्त बॉलिंग की वहीं विकेटकीपर ऋषभ पंत ने उनका जबर्दस्त साथ दिया। ऋषभ पंत ने ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी में विकेट के पीछे 6 कैच लपके। इस कामयाबी के साथ ही ऋषभ पंत भारत की ओर से टेस्ट की एक पारी में संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा कैच लपकने वाले में विकेटकीपर बन गए है। ऋषभ पंत ने विकेट के पीछे उस्मान ख्वाजा, पीटर हैंड्सकॉम्ब, ट्रेविस हेड, टिम पेन, मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड का कैच लपका। इससे पहले महेंद्र सिंह धोनी ने 2009 में वेलिंगटन टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक पारी में 6 कैच लपके थे। ऋ भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए टेस्ट मैचों में कंगारुओं की धरती पर सबसे ज्यादा कैच लेने वाले विकेटकीपर बन गए हैं।


आपको बता दें कि तीसरे दिन ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 235 रनों पर सिमट गई। जिससे भारत को 15 रन की बढत मिल गई है। भारत ने पहली पारी में 250 रन बनाये थे। शुक्रवार को दूसरे दिन खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट पर 191 रन बनाए थे।  तीसरे दिन का खेल बारिश के कारण देरी से शुरू हुआ। आस्ट्रेलिया को दिन का पहला झटका मिशेल स्टॉर्क (15) के रूप में लगा। जसप्रीत बुमराह ने स्टॉर्क को विकेट के पीछे खड़े ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया। इसके कुछ देर बाद ट्रेविस हेड अपना विकेट गंवा बैठे। ट्रेविस हेड (72)  और जोश हेजलवुड (0) को मो. शमी ने दो लगातार गेंदों पर लौटाया. दोनों कैच ऋषभ पंत ने पकड़े। ऑस्ट्रेलिया की ओर से आउट होने वाले अंतिम बल्लेबाज जोश हेजलवुड रहे। वहीं, नाथन ल्योन इस पारी में नाबाद लौटे। इसके साथ ही पंत ने पारी में छह कैच लपके। भारत को 15 रनों की बेशकीमती बढ़त मिल गई। भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन और जसप्रीत बुमराह ने तीन-तीन विकेट चटकाए। जबकि इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी ने दो-दो विकेट हासिल किए।



ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत के 250 रनों के जवाब में दूसरे दिन पहली पारी में सात विकेट गंवाकर 191 रन ही बना सकी थी। ऑस्ट्रेलिया के लिए  पहली पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसके चार बल्लेबाज 100 का आंकड़ा पार करने से पहले ही पवेलियन लौट गए थे। सलामी बल्लेबाज एरोन फिंच पहले ओवर की तीसरी गेंद पर खाता खोले बिना ही इशांत शर्मा के हाथों बोल्ड हो गए। इसके बाद मार्कस हैरिस (26), शॉन मार्श (2) उस्मान ख्वाजा (28), पीटर हैंडस्कॉब (34), टिम पेन (5) पैट कमिंस (10) भी ज्यादा टिक नहीं सके। हालांकि, छठे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए ट्रेविस हेड ने एक छोर संभाले रखा और अपनी टीम को दूसरे दिन ढेर होने से बचा लिया। भारतीय टीम के लिए इस पारी में आर अश्विन ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए जबकि इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह ने दो-दो विकेट चटकाए।