150 साल बाद फिर जाग उठा भारत का अकेला सक्रिय ज्वालामुखी

पणजी (17 फरवरी): भारत का एकमात्र जिंदा ज्वालामुखी फिर से सक्रिय हो गया है। अंडमान-निकोबार द्वीप स्थित बैरन ज्वालामुखी में 150 साल बाद पहली बार 1991 में गतिविधि देखी गई थी। अब वैज्ञानिकों ने फिर उसे लावा उगलते पाया है। गोवा स्थित नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ओसनग्राफी यानी NIO के शोधकर्ताओं के मुताबिक इससे फिर से राख निकल रहा है।

CSIR-NIO ने साझा बयान जारी कर कहा है कि अंडमान-निकोबार पर जिंदा ज्वालामुखी फिर से भड़क गया है। पोर्ट ब्लेयर से 140 किलोमीटर दूर उत्तर-पूर्व स्थित ज्वालामुखी 150 साल से शांत पड़ा है, जो पहले 1991 में सक्रिय हुआ था और उसके बाद से इसमें रुक-रुक कर गतिविधि दिखी है।

शोधकर्ताओं के मुताबिक धुएं के कारण ज्वालामुखी के मुख के ऊपर बादल घिरे दिख रहे थे, वहीं उससे दूर के हिस्से का आसमान पूरी तरह साफ था।