मालाबार युद्धाभ्यास से चीन की सिटीपिटी गुम, अब लगा गिड़गिड़ाने

नई दिल्ली (8 जुलाई): सोमवार को शुरू हो रहे नौसेना के 'मालाबार' युद्धाभ्यास में भारत का विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य, जापान का सबसे बड़ा जंगी जहाज जेएस इजुमो और अमेरिका का सुपर कैरियर निमित्ज हिस्सा लेगा। हिंद महासागर में चीनी गतिविधियों के बढ़ने के बीच यह अभ्यास होगा। बंगाल की खाड़ी में एक सप्ताह से अधिक समय तक चलने वाले अभ्यास में इन तीन देशों के कई अन्य प्रमुख जहाजों, पनडुब्बियां और लड़ाकू विमान हिस्सा लेंगे। यह अभ्यास ऐसे समय में हो रहा है जब सिक्किम में भारत और चीन की सेनाओं के बीच तानातानी का माहौल है। मालाबार युद्धाभ्यास से चीन की सिटीपिटी गुम है। हालांकि चीन ने मालाबार अभ्यास पर नजर रखने के लिए एक निगरानी जहाज तैनात किया है जबकि भारतीय नौसेना ने हिंद महासागर क्षेत्र में चीनी युद्ध पोतों की तैनाती की बढ़ती संख्या का पता लगाया है। चीन ने कहा कि उसे उम्मीद है कि ये युद्धाभ्यास किसी 'तीसरे देश' को लक्ष्य करके नहीं किया जाएगा। यह क्षेत्रीय शांति और सुरक्षा के लिए होगी।