अब भारत में मिलेगा अमेरिकी 'नॉन वेजिटेरियन' दूध, दही और पनीर !

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (25 दिसंबर): जल्द ही आपको भारतीय बाजार में अमेरिकी दूध, दही और पनीर मिलेगा। भारत सरकार ने अमेरिकी डेयरी प्रोडक्ट के लिए अपने बाजार को खोलने का फैसला किया है। हालांकि अमेरिका को ये सुनिश्चित करना होगा कि ये डेयरी प्रोडक्ट 'नॉन वेजिटेरियन' गाय-भैंस का होगा। यानी अमेरिका को यह गारंटी देनी होगी कि ये प्रॉडक्ट्स भारत में धार्मिक भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाएंगे। भारत में उपासना के तरीकों में डेयरी प्रॉडक्ट्स का काफी उपयोग होता है, लेकिन इन प्रॉडक्ट्स को ऐसे पशुओं से प्राप्त करने की जरूरत होती है जिन्हें कभी मांसाहार वाला चारा नहीं दिया गया हो। भारत सरकार ने साफ किया है कि नॉन वेज चारा खाने वाले जानवरों के मिल्क प्रोडक्ट्स स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

 रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने डेयरी प्रोडक्ट्स के इंपोर्ट पर काफी कड़ी शर्तें थोपी हैं। वह इस बात पर जोर दे रहा है कि डेयरी प्रोडक्ट्स ऐसे जानवरों के दूध से तैयार किए जाएं जिन्होंने कभी मांस न खाया हो। भारत इसे अपने धर्म और संस्कृति से जोड़कर देख रहा है जबकि इसे ग्राहकों के ऊपर छोड़ देना चाहिए अमेरिका की डेयरी इंडस्ट्री का दावा है कि अगर भारत में उनके प्रॉडक्ट्स के लिए मार्केट खोला जाता है तो इससे उसका एक्सपोर्ट 10 करोड़ डॉलर तक बढ़ सकता है।

आपको बता दें कि अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया में दुधारू मवेशी को नॉनवेज दिया जाता है। पशु-पक्षियों के मांस के बचे हुए और बेकार जाने वाले अंश जैसे आंतें, खून वगैरह चारे में मिला देते हैं। इससे मवेशी में दूध की मात्रा बढ़ जाती है।