अक्टूबर में भारत को मिल सकती है NSG में एंट्री

नई दिल्ली (31 जुलाई): आगामी अक्टूबर महीने में भारत को न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप यानी एनएसजी में जगह मिल सकती है। चुनाव के ठीक पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भारत को एनएसजी में शामिल कराने के लिए नए सिरे से जोर लगाएंगे। 

- दक्षिणी चीन सागर विवाद में फंसा चीन पिछली बार की तरह इस बार भारत का एकतरफा विरोध करने का जोखिम लेना नहीं चाहेगा। 

- एनएसजी के सलाहकार समूह की बैठक अक्टूबर में प्रस्तावित है। इसी दौरान भारत की सदस्यता पर विचार के लिए 48 सदस्यीय एनएसजी के सभी देशों की विशेष बैठक बुलाई जा सकती है।

- बराक ओबामा के नेतृत्व में अमेरिका ने इसके लिए प्रयास शुरू कर दिये हैं। 

- नवंबर में अमेरिकी राष्ट्रपति के लिए चुनाव से पहले ओबामा भारत की एनएसजी में सदस्यता सुनिश्चित करा लेने की कोशिश करेंगे।  - अक्टूबर में भारत के एनएसजी की सदस्यता लेने के लिए अंतरराष्ट्रीय माहौल अनुकूल होगा।

- दक्षिणी चीन सागर विवाद में अंतरराष्ट्रीय पंचाट के फैसले से चीन दबाव में है। 

- चीन ने भारत को स्पष्ट संकेत किया था कि एनएसजी जैसे मुद्दों पर साथ के लिए उसे भी चीन के प्रति नरम रवैया अपनाना चाहिए।