3,323 किमी लम्बी #India #Pakistan सीमा को अभेद बनाएगी सरकार, जानिए अभी #Border पर क्या है हाल...

डॉ. संदीप कोहली,

नई दिल्ली (7 अक्टूबर) : PoK में आतंकी कैंपों पर सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद से ही देशभर में सुरक्षा अलर्ट है। 3,323 किमी लम्बी भारत-पाकिस्तान सीमा से लगे भारत के सभी राज्य हाई अलर्ट पर हैं। इसी कारण आज गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जैसलमेर में पाकिस्तान बार्डर से लगे चारों राज्यों जम्मू-कश्मीर, पंजाब, राजस्थान और गुजरात के मुख्यमंत्रियों, गृहमंत्रियों और अधिकारियों की बैठक बुलाई। बैठक में फैसला लिया गया कि दिसंबर 2018 तक भारत-पाक सीमा को पूरी तरह सील कर दिया जाएगा। साथ ही भारत-पाक सीमा पर मॉनिटरिंग के लिए विशेष योजना बनाई जाएगी। बैठक में बॉर्डर सिक्युरिटी ग्रिड बनाने का भी प्रस्ताव रखा गया है। ताकि 3 हजार किमी से ज्यादा लम्बी सीमा की बेहतर तरीके से मॉनिटरिंग की जा सके।

भारत-पाक सीमा... - भारत की पाकिस्तान के साथ 3,323 किलोमीटर लंबी जमीनी सीमा लगती है। - इसमें जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान से लगी नियत्रंण रेखा (LoC) भी शामिल है। - भारत-पाक अंतर्राष्ट्रीय सीमा 2289.66 किमी और 778 किमी नियंत्रण रेखा है। - यह सीमा जम्मू-कश्मीर के अलावा भारत के तीन और राज्यों से लगती है। - 2,098 किमी की सीमा गुजरात, राजस्थान और पंजाब से लगती है। - जम्मू-कश्मीर की पाक से 1225 किमी की सीमा लगती है। - पंजाब की पाक से 553 किमी की सीमा लगती है। - राजस्थान की पाक से 1037 किमी की सीमा लगती है। - गुजरात की पाक से 508 किमी की सीमा लगती है।

पाकिस्तान से लगती सीमा को कैसे सील करेगा भारत... - भारत-पाक अंतर्राष्ट्रीय सीमा 2289.66 किमी है, जिसमें से 2034.96 किमी कवर है। - 254.80 किमी पर कवर करने की तैयारी की जा रही है। - बॉर्डर सील करने के इस प्रस्ताव के तहत वो क्षेत्र आएंगे जिन्हें BSF कवर करती है।  - भारतीय सेना द्वारा सुरक्षित LOC क्षेत्र इस प्रस्ताव से बाहर रखा गया है। - सीमा सील करने के बाद इस क्षेत्र में 1 से 2 चेकप्वाइंट्स बनाए जाएंगे।  - जिससे सामान की आवाजाही, ट्रैफिक और लोगों के आवागमन हो सकेगा। - इन चेक प्वाइंट्स को पूरे दस्तावेज दिखाने के बाद ही पार किया जा सकेगा।  - पंजाब के वाघा अटारी बॉर्डर भारत पाकिस्तान के बीच मुख्य चेक प्वाइंट है।  - इसके अलावा गेन्दा सिंह वाला, हुसैनीवाला, मुनाबाओ और चक्कां दा बाग भी हैं। - इस समय कश्मीर में दोनों देशों के बीच 2 व्यावसायिक रुट हैं उरी- सलामाबाद और पुंछ- रावलकोट।  - इसके अलावा सरकार की योजना है सीमा पर सीसीटीवी, लेजर फेंस और मोशन सेंसर लगाए जाएं।  - खबर तो यह भी है कि भारत अपनी सीमाएं इजराइल की तर्ज पर सील करेगा। - यानी सीमा पर इजराइल-फिलीस्तीन की तरह कंकरीट की दिवारें खड़ी की जाएंगी। - लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से इसकी अधिकारिक पुष्टी नहीं की गई है।

सीमा की सुरक्षा... - 3,323 किमी लम्बी सीमा पर बीएसएफ की 609 चौकियां(बॉर्डर आउटपोस्ट्स)हैं। - 2013 में सरकार ने 126 अतिरिक्त अग्रिम सीमा चौकियों को मंजूरी दी थी। - इसमें जम्मू कश्मीर में 38 चौकियों के अपग्रेडिंग का काम भी शामिल था। - सीमा पर दो चौकियों के बीच की दूरी को कम करके 3.5 किमी होनी चाहिए। - सीमा चौकियों के निर्माण का काम केंद्रीय लोक निमार्ण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) को दिया गया।  - 2015 तक 46 चौकियों का निर्माण कार्य पूरा हो चुकी है और 41 में काम जारी है। - साथ ही मौजूदा सुरक्षा चौकियों को स्थायी ढांचे के साथ पुनर्निमित किया जा रहा है। - चौकियों का काम घुसपैठ, हथियारों, गोला बारूद और मादक पदार्थों की तस्करी को रोकना है।

किस राज्य में कितनी सुरक्षा चौकियां हैं... - जम्मू में बीएसएफ की 128 सीमा चौकियां हैं। - पंजाब में बीएसएफ की 180 सीमा चौकियां हैं। - राजस्थान में बीएसएफ की 293 सीमा चौकियां हैं। - गुजरात में बीएसएफ की 135 सीमा चौकियां हैं। - कुल मिलाकर चारो राज्यों में 735 सीमा चौकियां हैं।

किस राज्य में कितनी फेंसिंग और फ्लड लाइट हो चुकी है.. - पंजाब में 462 किमी में फेंसिंग और 460 किमी में फ्लड लाइट लगाई जा चुकी है। - जम्मू(अंतर्राष्ट्रीय सीमा) में 186 किमी में फेंसिंग और 176 किमी में फ्लड लाइट लगाई जा चुकी है। - राजस्थान में 1048 किमी में फेंसिंग और 1022 किमी में फ्लड लाइट लगाई जा चुकी है। - गुजरात में 261 किमी में फेंसिंग और 293 किमी में फ्लड लाइट लगाई जा चुकी है। - कुल मिलाकर 1958 किमी में फेंसिंग और 1952 किमी में फ्लड लाइट लगाई जा चुकी है।

सोत्र : सारे आंकड़े MHA और PIB से लिए गए हैं...