Ind in SA: विराट ने खोला राज, 30 ओवर के बाद क्यों घटाया था टारगेट

नई दिल्ली ( 8 फरवरी ): विराट कोहली के शानदार 160 रन और कुलदीप यादव व युजवेंद्र चहल की धाकड़ गेंदबाजी के दम पर भारत ने साउथ अफ्रीका को केप टाउन में खेले गए सीरीज के तीसरे वनडे मैच में 124 रनों से हरा दिया है। इसके साथ ही भारत ने छह वनडे इंटरनैशनल मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त बना ली है।

कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 34वां वनडे शतक लगाने के साथ ही अपने वनडे करियर की दूसरी बेस्ट पारी भी खेली है। कोहली ने अपनी सर्वश्रेष्ठ 183 रनों की पारी पाकिस्तान के खिलाफ साल 2012 में खेली थी। कोहली ने कहा कि 30 ओवर के बाद हालात काफी बदल गए और ऐस में एक बल्लेबाज का अंत तक क्रीज पर डटे रहना महत्वपूर्ण था।

कोहली ने 159 गेंद में 12 चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 160 रन की पारी खेलने के अलावा सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (76) के साथ दूसरे विकेट के लिए 140 और भुवनेश्वर कुमार (नाबाद 16) के साथ सातवें विकेट के लिए 7.2 ओवर में 67 रन की अटूट साझेदारी की। इसके चलते भारत ने छह विकेट पर 303 का बड़ा स्कोर खड़ा किया।

कोहली ने मैच के बाद कहा कि दौरे की शुरुआत हमारे लिए काफी अच्छी नहीं रही, लेकिन मुझे पता था कि प्रत्येक मैच में प्रतिस्पर्धा के लिए मुझे टिकना होगा। काफी अच्छा लग रहा है कि मैं जीत में योगदान दे रहा हूं। उन्होंने कहा कि शुरू में अच्छे शाट खेल सकते थे, लेकिन 30 ओवर के बाद स्थिति काफी बदल गई और हमने तुरंत अपना लक्ष्य 330 से घटाकर 280-290 कर दिया। आप हमेशा चाहते हो कि कोई अंत तक बल्लेबाजी करे और अगर आप कप्तान के रूप में ऐसा करते हो तो यह बेहतरीन है। 

उन्होंने कहा कि शिखर के साथ एक और अच्छी साझेदारी रही और अंत में भुवी के साथ भी अच्छी भागीदारी। पारी के अंत में पैरों में जकड़न थी लेकिन मुझे पता था कि 300 रन बनाने के लिए मुझे अंत तक खेलना होगा। ये वह समय है जब आपकी मानसिक और शारीरिक परीक्षा होती है।