बलूचिस्तान को अलग देश घोषित करे भारत: सुब्रमण्यम स्वामी

नई दिल्ली ( 24 अप्रैल ): राज्यसभा सांसद और भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने रविवार को कहा कि पाकिस्तान यदि भारतीय नागरिक एवं नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा पर अमल करता है तो भारत को बलूचिस्तान को एक अलग देश के रूप में मान्यता देनी चाहिए। स्वामी ने कहा कि पाकिस्तान को सबक सिखाने की जरूरत है।


भारत और अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद’ विषय पर बोल रहे थे। स्वामी ने कहा, ‘अगर पाकिस्तान जाधव को मौत की सजा देता है तो बलूचिस्तान को मान्यता देकर उसे सबक सिखाया जाना चाहिए। यही नहीं, पाकिस्तान को बलूचिस्तान, पख्तूनिस्तान और सिंध में विभाजित कर देना चाहिए ताकि सीमा पार आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए उसे सीख दी जा सके।’


राज्यसभा सदस्य स्वामी ने कहा, ‘पाकिस्तान को सिर्फ आतंकवाद का प्रायोजक देश घोषित करने से कोई मकसद पूरा नहीं होगा। सिर्फ पाकिस्तान के विघटन से ही सीमा पार आतंकवाद के मुद्दे से निपटने में मदद मिलेगी।’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में शरण ले रखे दो सबसे ज्यादा वांछित आतंकवादियों हाफिज सईद और दाऊद इब्राहिम के परिसरों पर हमले किए जाने चाहिए।


स्वामी ने सुझाव दिया कि पाकिस्तान की धरती से पनपने वाले आतंकवाद से मुकाबला के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिका से समर्थन मांगना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीमा पर गड़बड़ी की स्थिति में परमाणु बम का इस्तेमाल करने की पाकिस्तान की धमकी पर चिंतित नहीं होना चाहिए क्योंकि इस बम का बटन अमेरिका के हाथों में है और पड़ेासी देश के मामलों पर उसका पूरा नियंत्रण है।


स्वामी ने मोदी से चीन के साथ संबंधों को सुधारने और आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए सहयोग मांगने का अनुरोध किया क्योंकि आतंकवादी कश्मीर में घुसने के लिए चीनी भौगोलिक क्षेत्र का इस्तेमाल कर रहे हैं।