भारत ने सऊदी अरब से कहा, तेल की कीमतों को बनाएं तर्कसंगत

नई दिल्ली ( 23 फरवरी ): भारत ने दुनिया के सबसे बड़े तेल उत्पादक सऊदी अरब से कहा है कि पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स की कीमतें ऐसी होनी चाहिए जो प्रोड्यूसर और कंज्यूमर दोनों ही देशों के हित में हो। इस वजह से पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स की कीमतों को तर्कसंगत होना चाहिए। 

सऊदी के तेल मंत्री खालिद अल-फलीह से बातचीत के बाद पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, 'भारत कीमतों को लेकर एक संवेदनशील और उपभोक्ता केंद्रित बाजार है, इसलिए क्रूड ऑयल और एलपीजी हमें OPEC राष्ट्रों से तर्कसंगत कीमत पर मिलनी चाहिए।' 

बता दें कि भारत के लिए इराक के बाद सऊदी अरब दूसरा सबसे बड़ा क्रूड सप्लायर देश है। भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक है और 80 फीसदी जरूरतों के लिए विदेशों पर निर्भर है। कुल तेल आयात का 85 फीसदी और कुल गैस आयात का 95 फीसदी हिस्सी OPEC से मंगाया जाता है। 

 पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि भारत कीमतों को लेकर एक प्राइस सेंसिटिव मार्केट है। इसलिए क्रूड ऑयल और एलपीजी हमें ओपेक देशों से रिजनेबल कीमत पर मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि क्रूड की कीमत इस तरह तय होनी चाहिए जिससे प्रोड्यूस करने वाले देशों को भी घाटा न हो, वहीं कंज्यूमर देशों को के हितों को भी नुकसान न हो।