INDvsSA: दूसरे टी-20 मुकाबले में भारत की हार, एक नज़र मैच में बने सभी आंकड़ों पर

नई दिल्ली (22 फरवरी): भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रही तीन टी-20 मैचों की सीरीज के दूससे मैच में मेजबान टीम ने भारत को 6 विकेट से हरा दिया। इस जीत के साथ अफ्रीका ने सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली है। अब सीरीज के विजेता का फैसला तीसरे टी-20 मैच से होगा।

भारत से मिले 189 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए साउथ अफ्रीका ने 18.4 ओवरों में 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। अफ्रीका की ओर से हेनरिक क्लासेन और कप्तान जेपी ड्यूमिनी ने शानदार पारी खेली। हेनरिक ने 69 की पारी खेली तो कप्तान जेपी ड्यूमिनी 64 रन बनाकर नाबाद रहे।

भारत की ओर से चहल सबसे मंहगे गेंदबाज रहे, उन्होंने 4 ओवरों में बिना कोई विकेट लिए 64 रन दिए। 189 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी अफ्रीका की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। 24 रन पर उसे पहला झटका लगा. जो जो स्मट्स 2 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें जयदेव उनादकट ने अपना शिकार बनाया। इसके थोड़ी ही देर बाद शार्दुल ठाकुर ने अफ्रीका को दूसरा झटका दिया। अच्छी बल्लेबाजी कर रहे रेजा हेंड्रिक्स को उन्होंने 26 रनों पर आउट कर दिया. इसके बाद कप्तान जेपी ड्यूमिनी और विकेटकीपर बल्लेबाज हेनरिक क्लासेन ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर मैच को अपने पक्ष में कर लिया। क्लासेन ने 22 बॉल में हाफ सेंचुरी जड़ दी।

एक नज़र मैच में बने आंकड़ों पर-

  1. युजवेंद्र चहल ने चार ओवर में बिना कोई विकेट लिए 64 रन दिए और यह टी20 अंतरराष्ट्रीय में किसी भी भारतीय गेंदबाज के सबसे खराब आंकड़े हैं। चहल ने जोगिन्दर शर्मा (57 रन vs इंग्लैंड, 2007) का रिकॉर्ड तोड़ा।
  2. शार्दुल ठाकुर भारत की तरफ से टी20 अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले 73वें खिलाड़ी बने। पिछले मैच में दक्षिण अफ्रीका की तरफ से जूनियर डाला (74वें) और हेनरिक क्लासेन (75वें) ने अपना डेब्यू किया था।
  3. महेंद्र सिंह धोनी और मनीष पांडे ने पांचवें विकेट के लिये 98* रन जोड़े। भारतीय रिकॉर्ड युवराज सिंह और धोनी (102* vs ऑस्ट्रेलिया) के नाम है।
  4. हेनरिक क्लासेन ने अपने दूसरे ही मैच में 22 गेंदों में अर्धशतक बनाया और दक्षिण अफ्रीका की तरफ से टी20 अंतरराष्ट्रीय में सबसे तेज़ अर्धशतक बनाने के मामले में दूसरे स्थान पर पहुंच गए। रिकॉर्ड एबी डीविलियर्स और क्विंटन डी कॉक (21 गेंद vs इंग्लैंड) के नाम है।
  5. भारत की तरफ से टी20 अंतरराष्ट्रीय में सबसे ज्यादा बार 0 पर आउट होने वाले बल्लेबाज बने रोहित शर्मा (4)।
  6. टी20 अंतरराष्ट्रीय में दूसरी बार भारत की पारी का पहला ओवर मेडेन रहा। क्रिस मॉरिस के ओवर में शिखर धवन एक भी रन नहीं बना सके। इससे पहले 2016 में ज़िम्बाब्वे के खिलाफ केएल राहुल ने टेंडाई चटारा का पहला ओवर मेडेन खेला था।
  7. महेंद्र सिंह धोनी ने अपना दूसरा टी20 अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक लगाया। 27 गेंदों में अर्धशतक बनाकर उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सबसे तेज़ अर्धशतक का भारतीय रिकॉर्ड (शिखर धवन, 27 गेंद) बराबर किया।
  8. मनीष पांडे ने अपना दूसरा अर्धशतक बनाया और 79* उनका सर्वाधिक स्कोर है।
  9. टी20 अंतरराष्ट्रीय में सिर्फ पांचवीं बार दोनों टीमों के विकेटकीपर ने एक ही मैच में अर्धशतक लगाया। धोनी और क्लासेन से पहले यह रिकॉर्ड ब्रेंडन मैकलम-जोस बटलर (2013), दिनेश रामदीन-ल्युक रोंकी (2014), जोस बटलर-एबी डीविलियर्स (2016) और मोहम्मद शहजाद-गैरी विल्सन (2017) के नाम था।
  10. जेपी डुमिनी ने 10वां अर्धशतक लगाया और दक्षिण अफ्रीका की तरफ से सबसे ज्यादा अर्धशतक के मामले में एबी डीविलियर्स का रिकॉर्ड बराबर किया।