पाक को मिलेगा कड़ा सबक, रूस-भारत फिर आये एकसाथ

नई दिल्ली (20 अप्रैल): पिछले साल पाकिस्तान के साथ सैन्य अभ्यास कर के अपने 'करीबी दोस्त' भारत को नाराज करने वाला रूस अब भारत के साथ त्रिकोणीय युद्ध अभ्यास करने वाला है। भारत और रूस के बीच इस साल के अंत में एक बड़ा सैन्य अभ्यास होगा जिसमें आर्मी, एयरफोर्स और नेवी की भागीदारी के साथ त्रिकोणीय युद्ध अभ्यास होने की भी संभावना है। मजबूत सामरिक रिश्ते रखने वाले भारत और रूस के बीच इस तरह का यह पहला युद्ध अभ्यास होगा। इसके अलावा इंडियन आर्मी और नेवी रूस के साथ अलग से सैन्य अभ्यास 'इंद्र' करेंगी। 


रक्षा मंत्रालय के एक सूत्र ने कहा, 'अक्टूबर नवंबर में रूस में होने सैन्य अभ्यास में आर्मी, नेवी और एयरफोर्स यानी तीनों सेनाओं के जवान और हथियार शामिल होंगे। यह पहली बार होगा जब भारत की तीनों सेनाएं एक साथ किसी देश का साथ अभ्यास करेंगी।' संयोग से भारत-रूस के बीच युद्ध अभ्यास से पहले रक्षा मंत्री अरुण जेटली अतंरराष्ट्रीय सुरक्षा पर आयोजित होने वाली मॉस्को कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेने के लिए 25-26 अप्रैल को रूस में रहेंगे।रूस भारत के लिए पिछले काफी दशकों से सबसे बड़ा रक्षा सप्लायर रहा रहा है। 


1960 के दशक से  भारत रूस से 50 बिलियन डॉलर से ज्यादा के हथियार और सैन्य सामग्री खरीद चुका है।, विरोध भी दर्ज कराया था, क्योंकि वह अभ्यास ऐसे वक्त पर किया गया था जब पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने भारतीय सेना के उड़ी कैंप पर हमला किया था जिसमें 19 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। हालांकि बाद में रूस की ओर से इस तरह की खबरें आई थीं कि अब वह पाकिस्तान के साथ सैन्य अभ्यास करने से परहेज करेगा।