भारत के साथ खड़ा हुआ रूस, आतंकवाद पर दिया चीन-पाकिस्तान को कड़ा संदेश

नई दिल्ली (15 अक्टूबर): गोवा में हो रहे ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्‍ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बयानों ने एक बार फिर दुनिया को दिखा दिया कि दोनों देशों में दोस्ती उतनी ही मजबूत है, जितनी पहले थी।

ब्रिक्स में भारत-रूस के साझा बयान में मौलाना मसूद अज़हर को लेकर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को पूरी तरह से लागू करने पर बल दिया। इसी के साथ रूस ने चीन और पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि आतंकवाद को लेकर दोहरे मापदंड और सेलेक्टिव नहीं होना चाहिए।

वहीं पाकिस्तान को भी इस साझा बयान में कड़ा संदेश दिया गया। जिसमें आतंकियों को सुरक्षित ठिकाना मुहैया करना, आतंकी विचारधारा को प्रसार करना, भर्ती और आतंकियों की आवाजाही के खिलाफ बयान जारी किया गया।