सरकार ला रही ऐसा एप, घर से निकलते ही रास्ते में खतरे का चल जाएगा पता

APP

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(11 सितंबर): पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर पुणे में टेस्टिंग, जल्दी ही दिल्ली और दूसरे शहरों में लॉन्चिंग अपनी मंजिल का पता डालेंगे, वह आपको सेफ रास्ता 0 से 5 तक रेटिंग में बताएगा। हर गली, सड़क, बस, स्ट्रीट लाइट, पुलिस स्टेशन, मार्केट की जीआईएस मैपिंग की हो रही है।

केंद्र सरकार ऐसा मोबाइल ऐप तैयार करा रही है, जिससे आप जान सकेंगे कि जिस रास्ते पर आप जाने वाले हैं, वहां क्राइम का खतरा तो नहीं है। इस ऐप से महिलाओं को खासकर रात के वक्त काफी मदद मिल सकेगी। अपराधों को रोकने में भी सहूलियत होगी। केंद्रीय आवास और शहरी विकास मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि अभी पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर पुणे शहर में इसकी टेस्टिंग चल रही है। सूत्रों का कहना है कि इसे दिल्ली में, फिर बाकी शहरों में लागू किया जाएगा। 

इस ऐप में जैसे ही आप अपनी मंजिल का पता डालेंगे, वह आपको सेफ रास्ता 0 से 5 तक रेटिंग में बताएगा। स्मार्ट सिटी प्रोग्राम के तहत हर गली, सड़क, बस, स्ट्रीट लाइट, पुलिस स्टेशन, मार्केट सभी की जीआईएस मैपिंग की जा रही है। अभी मंत्रालय 100 स्मार्ट सिटी पर काम कर रहा है, जिनमें दिल्ली का एनडीएमसी एरिया भी है। यह मोबाइल ऐप 5 पैमानों पर मुख्य रूप से काम करेगा।