भारत से बीजिंग को नहीं खतरा, लेकिन संप्रभुता का सम्मान करे चीन

नई दिल्ली (18 जनवरी): हाल के दिनों में भारत और चीन के बीच कई मुद्दों पर तल्खी बढ़ी है। पाकिस्तान की सह पर चीन आतंकी अजहर मसूद समेत कई अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर भारत का विरोध कर रहा है। इन सबके बीच भारत ने कहा है कि नई दिल्ली का विकास चीन के लिए कोई चुनौती नहीं है और इससे बीजिंग को कोई नुकसान नहीं होने वाला है। भारत ने साथ ही चीन को एक-दूसरे की संप्रभुता का सम्मान करने की सलाह भी दी।

दूसरे रायसीना डायलॉग को संबोधित करते हुए भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर ने चीन-पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) पर कड़ा विरोध जताते हुए कहा कि भारत को इस परियोजना पर ऐतराज है।

गौरतलब है कि CPEC पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरता है। जयशंकर ने कहा कि चीन को दूसरों की संप्रभुता को भी समझना चाहिए। जयशंकर ने कहा कि CPEC ‘उस जगह से गुजरता है जिसे हम पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर कहते हैं जो भारत का क्षेत्र है। इसपर पाकिस्तान ने अवैध रूप से कब्जा कर रखा है।’ उन्होंने कहा कि परियोजना को भारत की सलाह के बगैर शुरू किया गया और इसलिए इसको लेकर संवेदनशीलता और चिंताएं स्वाभाविक हैं।