भारत का पाक को करारा जवाब, मौत के घाट उतारे कई रैंजर्स

नई दिल्ली (18 अप्रैल):  जम्मू-कश्मीर के राजौरी ज़िले में पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन का भारत ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत की जवाबी फायरिंग में पाकिस्तान के आठ सैनिक मारे गए हैं। पाकिस्तान ने एल ओसी पर नौशेरा सेक्टर में भारतीय सेना की दो पोस्ट पर हैवी मोर्टार दागे और फायरिंग की, जिसके बाद भारत को जवाबी फायरिंग करनी पड़ी। सेना के मुताबिक- भारत ने जो मोर्टार दागे उससे पाकिस्तान को बहुत नुकसान पहुंचा है। खुफिया एजेंसियों ने सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस को पहले ही आगाह कर रखा है कि इस गर्मी में करीब 100 आतंकी सीमा के उस पार लॉन्च पैड पर आ गए हैं और भारत में घुसने की तैयारी में हैं।


इस महीने में संघर्षविराम के उल्लंघन की यह छठी घटना है। इससे पहले पाकिस्तानी बलों ने 8 अप्रैल को राजौरी जिले में ही नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी करके संघर्षविराम का उल्लंघन किया था, और उससे पहले 5 अप्रैल को पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास संघर्षविराम का उल्लंघन किया गया था। पाकिस्तान ने राजौरी जिले के भीमबर गली सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास भारतीय चौकियों पर 4 अप्रैल को भी मोर्टार दागे थे, और पाकिस्तानी सेना ने राजौरी जिले के बालाकोट सेक्टर में अग्रिम चौकियों पर 3 अप्रैल को मोर्टार दागे। इसी दिन पाकिस्तानी सैन्यबलों ने दूसरी बार संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए पुंछ सेक्टर के दिग्वर में नियंत्रण रेखा के पास भारतीय चौकियों पर गोलाबारी की थी। 1 अप्रैल को भी पुंछ सेक्टर के इसी इलाके में एक आईईडी विस्फोट में जूनियर कमीशन्ड ऑफिसर नायब सूबेदार एसएस सोम शहीद हो गए थे। पुंछ में मार्च में भी संघर्षविराम का चार बार उल्लंघन किया गया था।