इन 16 देशों में बिना रोकटोक जा सकेंगे भारतीय बिजनेसमैन

नई दिल्ली (24 मई ): क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागदारी (आरसीईपी) के तहत 16 देशों में व्यापारियों को बिना किसी बाधा के आवाजाही सुनिश्चित करने के लिये भारत ने आरसीईपी बिजनेस वीजा कार्ड का प्रस्ताव किया है। आरसीईपी पर बातचीत अगले साल पूरा होने की संभावना है। सोलह सदस्यीय क्षेत्रीय आरसीईपी वृहद व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहे हैं जिसमें वस्तु, सेवा, निवेश, आर्थिक तथा तकनीकी सहयोग, प्रतिस्पर्धा तथा बौद्धिक संपदा अधिकार को शामिल किये जाने का मकसद है।आरसीईपी देशों में आस्ट्रेलिया, ब्रुनेई, कंबोडिया, चीन, भारत, इंडोनेशिया, जापान, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, न्यूजीलैंड, फिलिपीन, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, थाइलैंड और वियतनाम शामिल हैं।वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भी संकेत दिए कि बातचीत इस साल पूरी नहीं होगी और यह 2018 की पहली छमाही तक जा सकती है। सदस्य चाहते थे कि बातचीत इस साल के अंत तक पूरी हो जाएगी। इस पर बातचीत 2012 में शुरू हुई थी।वीजा मुद्दे पर बात करते हुए उन्होंने कहा, हमने आरसीईपी बिजनेस कार्ड का प्रस्ताव दिया है। इसीलिए हमने प्रस्ताव किया है कि जिस प्रकार एपीईसी सदस्य देशों के लोगों के पास एपीईसी बिजनेस कार्ड है, उसी प्रकार आरसीईपी सदस्यों के व्यापारियों के पास हो। इस प्रकार के कार्ड पूरी सुरक्षा मंजूरी के बाद जारी किये जाते हैं।बातचीत की स्थिति का जायजा लेने के लिये भारत समेत 16 देशों के व्यापार मंत्रियों की हाल में वियतनाम में बैठक हुई।