News

मोदी सरकार की बड़ी कामयाबी, पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर लगेगी लगाम

डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट के कारण देश में पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ने से आम आदमी को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन मोदी सरकार ने अब ऐसा काम किया है, जिससे आने वाले दिनों

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (7 दिसंबर): डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट के कारण देश में पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ने से आम आदमी को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन मोदी सरकार ने अब ऐसा काम किया है, जिससे आने वाले दिनों में देशवासियों को राहत मिलने की उम्मीद है। खबरों के मुताबिक भारत अब ईरान से खरीदने वाले कच्चे तेल का भगुतान रुपये में करेगा, जिससे आने वाले समय में पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लगाम लगाने में मदद मिलेगी।

भारत ने कच्‍चे तेल का भुगतान घरेलू मुद्रा रुपए में करने के लिए ईरान के साथ करार किया है। सूत्रों ने बताया कि भारतीय रिफाइनरी कंपनियां, नेशनल ईरानियन ऑयल कंपनी (एनआईओसी) के यूको बैंक खाते में रुपए में भुगतान करेंगी। सूत्रों ने कहा कि इसमें से आधी राशि ईरान को भारत द्वारा किए गए वस्तुओं के निर्यात के भुगतान के निपटान को रखी जाएगी।

अमेरिकी प्रतिबंधों के तहत भारत द्वारा ईरान को खाद्यान्न, दवाओं और चिकित्सा उपकरणों का निर्यात किया जा सकता है। भारत को अमेरिका से यह छूट आयात घटाने तथा एस्क्रो भुगतान के बाद मिली है। इस 180 दिन की छूट के दौरान भारत प्रतिदिन ईरान से अधिकतम तीन लाख बैरल कच्चे तेल का आयात कर सकेगा। इस साल भारत का ईरान से कच्चे तेल का औसत आयात 5,60,000 बैरल प्रतिदिन रहा है।

सूत्रों ने कहा कि भारत, ईरान के तेल का चीन के बाद दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है। अब ईरान से भारत मासिक आधार पर 12.5 लाख टन, डेढ़ करोड़ टन सालाना या तीन लाख बैरल प्रतिदिन कच्चे तेल खरीद कर सकता है। वित्त वर्ष 2017-18 में भारत ने ईरान से 2.26 करोड़ टन या 4,52,000 बैरल प्रतिदिन की तेल की खरीद की थी।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top