बैलिस्टिक मिसाइल के क्षेत्र में भारत का परचम, पाकिस्तान के उड़े होश

नई दिल्ली (26 दिसंबर): परमाणु क्षमता से लेस बैलिस्टिक मिसाइल के क्षेत्र में भी भारत लगातार बुलंदी की ओर बढ़ता जा रहा है। सोमवार को भारत ने ओडीशा के चांदीपुर से तट से अग्नि-5 का कामयाब परीक्षण किया है। भारत के इस सफल परीक्षण से चीन और पाकिस्तान की होश उड़ गई है। नपाक पाकिस्तान को समझ में नहीं आ रहा है कि वो भारत की इस कामयबी का कैसे नकल करे।

भले ही पाकिस्तान की भारत के खिलाफ नापाक हरकतें जारी हो, वह भारत में अपने आतंकियों की घुसपैठ कराकर छद्म युद्ध छेड़ रखा हो और सरहद पर उसके सैनिक बार-बार सीजफायर का उल्लंघन करता हो, लेकिन वो भारत के सामने कहीं नहीं टिकता है। आकाश से लेकर पाताल तक भारत के सामने पाकिस्तान एक नन्हा बच्चा जैसा है। 

भारत और पाकिस्तान की मिसाइल टेक्नोलॉजी में भी बड़ा फर्क है। भारत 5000 किलोमीटर तक वार करने वाली परमाणु मिसाइल अग्नि-5 डेवलप कर चुका है और 10 हजार किलोमीटर तक जाने वाली मिसाइल टेक्नोलॉजी डेवलप कर रहा है। वहीं पाकिस्तान अभी शाहीन-3 तक ही पहुंच पाया है। इसकी रेंज 2750 किमी है। पाकिस्तान तैमूर इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइल पर काम कर रहा है जिसकी कैपेबिलिटी अग्नि-5 जितनी होगी। यानी पाकिस्तान अभी हमसे एक कदम पीछे है। हालांकि शाहीन 3 को लेकर पाक आर्मी का दावा है कि ये पूरे भारत में कहीं भी निशाना लगा सकती है। पूर्व में म्यांमार, पश्चिम में इजरायल और उत्तर में कजाखिस्तान तक एटमी हथियार से हमला कर सकती है।

एटमी मिसाइल के मामले में भारत के कहीं पीछे है पाकिस्तान...

भारतीय मिसाइलेंरेंजपाकिस्तानी मिसाइलेंरेंज
अग्नि-55000 किलोमीटरतैमूर (तैयार नहीं)5000 किलोमीटर
अग्नि-43500 किलोमीटरशाहीन-32750 किलोमीटर
अग्नि-33500 किलोमीटरशाहीन-22000 किलोमीटर
अग्नि-1700 किलोमीटरशाहीन-1700 किलोमीटर