भारत के इन कदमों से अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान, शुरू हुआ घरेलू कलह

इस्लामाबाद (27 अगस्त): आतंकियों के लिए दुनियाभर में सुरक्षित पनाहगार बना पाकिस्तान भारत में आशांति फैलाने के लिए हर मूमकिन नापाक कोशिश में जुटा रहता है। भारत ने कई बार पाकिस्तान हिंदुस्तान से दुश्मनी भूलकर अपने यहां से भूखमरी, बेरोजगारी, स्वास्थ्य समेत अन्य मुद्दों पर ध्यान देने की अपील की साथ-साथ उसके इसमें सहयोग का भी भरोसा दिया। लेकिन पाकिस्तान बाज नहीं आया। पाकिस्तान जहां अपने आतंकियों को भारत में घुसपैठ कराकर अशांति फैला रहा  है वहीं उसके सैनिक सरहद पर लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। इतना ही नहीं पाकिस्तान कुछ चालबाज पड़ोसियों के साथ मिलकर भारत के खिलाफ शैतानी साजिश रचता रहता है। 

लिहाजा अब भारत ने भी उसे मुंहतोड़ जवाब देना शुरू कर दिया है। भारत जहां घाटी में आतंकियों को चुन-चुनकर मार रहा है वहीं सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स की हर हड़कतों का मुंहतोड़ जवाब दे रहा है। इतना ही नहीं भारत ने अब उसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी बेनकाब करना शुरू कर दिया है। आलम ये है कि पाकिस्तान विश्व राजनीति में पूरी तरह अलग-थलग पर गया है। भारत के इस कदम से अमेरिका समेत दुनिया के तमाम देशों से गरीबी के नाम पर पाकिस्तान को मिलने वाला आर्थिक मदद भी अब बंद होने लगा है। वैश्विक मंच पर अलग-थलग किए जाने के लिए वहां के विपक्ष ने सरकार पर करारा हमला बोल दिया है।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के चेयरमैन बिलावल भुट्टो जरदारी ने कहा कि पाकिस्तान के अलग-थलग पड़ने के लिए सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) पूरी तरह से जिम्मेदार है। सरकार की कमजोर विदेश नीतियों के चलते पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मंच पर अलग-थलग पड़ रहा है। बिलावल ने कहा कि आज उनका देश घरेलू और बाहरी चुनौतियों से जूझ रहा है।

उन्होंने कहा कि देश से आतंकवाद का खात्मा करने के लिए नेशनल एक्शन प्लान को पूरी तरह से लागू नहीं किया जा रहा है। आतंकी संगठन अपना नाम बदलकर राजनीतिक पार्टियां बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि नवाज शरीफ ही नहीं, बल्कि इमरान खान भी देश को चलाने में सक्षम नहीं हैं। उन्होंने देश को सामाजिक लोकतांत्रितक देश में तब्दील करने का भी आश्वासन दिया।