शहीद जितेंद्र की अंतिम यात्रा, नम आंखों से दी गई विदाई

नई दिल्ली(29 अक्टूबर):जम्मू-कश्मीर में देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए जितेन्द्र सिंह का पार्थिव शरीर उनके निवास स्थान रकसौल पहुंचा। शहीद जितेंद्र की अंतिम यात्रा में सैंकड़ों लोग शामिल हुए। 

- वहीं उनके गांव के लोग इस बार दिवाली नहीं मनाएंगे। वार्ड पार्षद शांतिं देवी ने शुक्रवार को बताया कि मुहल्ले के तमाम लोग इस घटना से मर्माहत हैं। सबकी यह इच्छा है कि इस बार उनके दिवंगत होने के शोक में दीपावली नहीं मनायी जाए। वे दीपावली नहीं मना कर शहीद को सच्ची श्रद्धांजलि देंगे।

- उन्होंने बताया कि मुहल्ले में जन्मे, पले-बढ़े जितेन्द्र सभी के चहेते होने के साथ सुख-दुख के सच्चे साथी भी थे। उनके शहीद होने का गौरव तो मुहल्ले को प्राप्त हुआ, लेकिन मुहल्लेवासियों ने एक सच्चे देशभक्त मित्र को खो दिया है।

- जितेन्द्र सिंह का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव सिसवा में पवित्र नदी तिलावे के किनारे होगा। 

- शहीद को मुखाग्नि उनका एकलौता पुत्र रोहित देगा।