Blog single photo

बौखलाहट में सामान्य शिष्टाचार भी भूला पाकिस्तान, पहले दिवाली की मिठाई स्वीकारी, फिर लौटाया

सरहद पर शैतानी हरकतों के साथ-साथ पाकिस्तान सामान्य शिष्टाचार भी भूल गया है। पाकिस्तान की बैखलाहट का आलम ये है कि उसने दिवाली के मौके पर भारत की ओर से दी गई दिवाली की मिठाई भी इस बार नहीं स्वीकारा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 अक्टूबर): सरहद पर शैतानी हरकतों के साथ-साथ पाकिस्तान सामान्य शिष्टाचार भी भूल गया है। पाकिस्तान की बैखलाहट का आलम ये है कि उसने दिवाली के मौके पर भारत की ओर से दी गई दिवाली की मिठाई भी इस बार नहीं स्वीकारा। प्रोटोकल के तहत इस्लामाबाद में मौजूद भारतीय हाई कमीशन सभी हर साल अहम दफ्तरों में दिवाल की मिठाई भेजता है। मिठाई पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी ISI को भी भेजी जाती है।लेकिन इस बार ISI ने दिवाली की मिठाई स्वीकार नहीं की। जानकारी के मुताबिक ISI ने पहले मिठाई स्वीकार कर ली लेकिन बाद में भारतीय हाई कमीशन को वापस लौटा दी। बताया जा रहा है कि इस बार केवल ISI ने ही नहीं बल्कि सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स ने भी इस बार भारत की तरफ से  दी गई मिठाई नहीं स्वीकारी।

दरअसल सरहद पार से पाकिस्तान अपने आतंकियों के जरिए भारत के खिलाफ लगातार नापाक हरकते करता रहता है, लेकिन 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने के भारत के फैसले के पाकिस्तान बैखला गया है और भारत के खिलाफ भड़काऊ काम कर रहा है। पाकिस्तान लगातार जहां एलओसी पर सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। वहीं उसके नेता भारत के खिलाफ भड़काऊ बयान दे रहे हैं।पाकिस्तान लगातार भारतीय चौकियों और रिहायसी इलाकों को निशाना बनाकर फायरिंग कर रहा है।  सीजफायर उल्लंघन की आड़ में पाकिस्तान भारत में अपने आतंकियों की घुसपैठ की फिराक में है। पाकिस्तान की इन्हीं हरकतों का जवाब देते हुए भारतीय सेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकी कैंपों पर हमला किया था। भारतीय सेना की इस कार्रवाई में कई आतंकी और पाकिस्तानी सेना के जवान मारे गए थे।

आतंकियों की भारत में घुसपैठ में मदद करने के लिए पाकिस्तानी आर्मी ने तंगधार में सीजफायर का उल्लंघन किया। इसमें भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए थे और एक आम नागरिक भी मारा गया था। इसके बाद जवानों की शहादत का बदला लेते हुए भारतीय जवानों ने पीओके में स्थित आतंकी कैंपो पर आर्टिलरी गन्स से हमला बोला था और 4 आतंकी कैंपो को तबाह कर दिया था। भारतीय सेना की इस कार्रवाई में कुछ पाकिस्तानी जवान भी मारे गए थे।

Tags :

NEXT STORY
Top