भारत-पाक सीमा पर जबरदस्त गोलाबारी जारी

श्रीनगर(26 अक्टूबर): भारत-पाक सीमा के कई सेक्टरों में पिछले 24 घंटे से ज्यादा वक्त से गोलाबारी जारी है। पाकिस्तान की गोलाबारी में सीमा पर कई मकान बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं जबकि एक बीएसएफ के एएसआई समेत करीब 12 लोग घायल हुए हैं।   -वहीं एलओसी पर पाकिस्तानी सेना द्वारा लगातार किए जा रहे सीजफायर उल्लंघन का करारा जवाब देते हुए भारतीय सेना ने कम से कम तीन पाकिस्तानी सैनिकों को ढेर कर दिया।

-सूत्रों की मानें तो तादाद इससे अधिक भी हो सकती है। इसी तरह सरहद के उस पार भी करीब आधा दर्जन पाकिस्तानी पोस्ट पूरी तरह तबाह हो गईं। मंगलवार को दिन में भी आईबी के आरएसपुरा सेक्टर और नियंत्रण रेखा के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर अंधाधुंध गोलाबारी की गई।

-आरएस पुरा सेक्टर की सरहदी बस्तियों में गिरे गोलों की चपेट में आकर दस ग्रामीण घायल हो गए। घायलों में आठ महिलाएं, एक बच्ची और एक पुरुष शामिल है। सीमावर्ती गांवों को खाली करवाया गया

-एलओसी पर नौशेरा सेक्टर में मंगलवार सुबह 10 बजे से शुरू हुई गोलाबारी शाम तक जारी रही। सुचेतगढ़ तथा आरएस पुरा सेक्टर में ज्यादातर गांव खाली हो गए हैं।

-बच्चे तथा महिलाएं सुरक्षित स्थानों पर अपने रिश्तेदारों के घर चले गए हैं। बार्डर से सटे अब्दुल्लियां गांव की ओर जाने से लोगों को रोक दिया गया है। राहत शिविरों को तैयार रखा गया है।

-बीएसएफ के डीआईजी धर्मेंद्र पारिख ने बताया कि बार्डर पर मंगलवार को पाकिस्तान की ओर से दिनभर गोलाबारी होती रही। भारत की ओर से मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। पाक की चार-पांच पोस्ट तबाह हो गईं हैं। पाक मीडिया में छपी खबरों में चार पाकिस्तानी नागरिकों के मारे जाने और अब तक 15 के घायल होने की खबर है।   पाक ने 82 एमएम और 120 एमएम के गोले दागे   -आरएस पुरा के सीमावर्ती क्षेत्र के गांवों को निशाना बनाते हुए पाकिस्तान ने मंगलवार की सुबह दस बजे से पूरे दिन रुक-रुककर गोलाबारी की। पाकिस्तान ने रेंज बढ़ाते हुए गांव चौगा, कोटली मीरदीया, टोकनवाली, शामका, बेगा बेरा, कोराटाना आदि गांवों को निशाना बनाकर 82 एमएम और 120 एमएम के गोले दागे।

-अब्दुल्लियां गांव में पीडीपी नेताओं के वाहन जाते देख पाकिस्तान ने गोलाबारी शुरू कर दी। बाद में कोराटाना खुर्द, सुचेतगढ़ आदि पोस्टों और रिहायशी गांवों को निशाना बनाया। शाम चार बजे सुचेतगढ़ में एक घर में मोर्टार शेल गिरने से सात महिलाएं घायल हो गईं। छह महिलाएं एक ही परिवार की हैं। इन्हें जीएमसी में भर्ती कराया गया है।

  ​