सैफ अली खान के चाचा हैं पीसीबी के चीफ, भारत में हुआ था जन्म

नई दिल्ली (17 जून): रविवार को भारत और पाकिस्तान के बीच चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल मुकाबला खेला जाने वाला है। ऐसे में दोनों ही देश के लोग अपनी-अपनी टीम को खिताब जीतते देखना चाहते हैं। हालांकि इस समय जो शख्स पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष है, उनका भारत से पुराना रिश्ता है।


शहरयार खान का जन्म 29 मार्च को भोपाल में हुआ था। वे भोपाल के नवाब परिवार के सदस्य हैं। यदि उनकी मां आबिदा सुल्तान आजादी के बाद पाकिस्तान नहीं जातीं तो वे भी भोपाल नवाब की 1 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा संपत्ति के मालिक होते।


नवाब का इतिहास

भोपाल के नवाब हमीदुल्ला खान की तीन बेटियां थी। उनका कोई बेटा नहीं था, इसलिए उनकी संपत्ति की वारिस उनकी बेटियां हुई। आबिदा की शादी कुरवाई के नवाब से हुई थी, लेकिन शादी के बाद भी वे मायके में ही रहती थीं। आजादी के बाद नवाब हमीदुल्ला खान का मन पाकिस्तान जाने को हुआ तो उन्होंने अपनी बड़ी बेटी आबिदा को भोपाल की गद्दी देनी चाहीं, लेकिन बेटी से विवाद ने रिश्तों में अलगाव ला दिया। उसके बाद आबिदा अपने परिवार के साथ पाकिस्तान चली गई। शहरयार खान आबिदा सुल्तान के इकलौते बेटे  है।


कई देशों में बने पाक राजदूत

पिता से विवाद के बाद आबिदा कराची चली गई, फिर उन्हें ब्राजील में पाकिस्तान का राजदूत बना दिया गया। आगे चलकर उनके बेटे ने भी पाकिस्तान के प्रशासनिक सेवा में योगदान दिया। वे विदेश सेवा में शामिल हो गए और वे कई देशों में पाकिस्तान के राजदूत रहे। जब 1960 में हमीदुल्ला खान की मौत हुई, तो आबिदा भोपाल आईं। कुछ लोगों ने उन्हें वापस लौटकर नवाब परिवार की विरासत संभालने का सुझाव दिया था, लेकिन उन्होंने वापस लौटना मुनासिब नहीं समझा।


अब सैफ है संपत्ति के मालिक

अभी भोपाल के नवाब परिवार के पास 1 हजार करोड़ से ज्यादा की संपत्ति है। इस संपत्ति लेकर विवाद भी चल रहे है। नवाब की दो और बेटी साजिदा और राबिया सुल्तान के बीच संपत्ति पर कब्जे को लेकर मामला कोर्ट भी जा चुका है। शहरयार खान, नवाब मंसूर अली खान पटौदी की मौसी के लड़के हैं। वे नवाब पटौदी के बड़े भाई हैं। इस तरह वे फिल्म अभिनेत्री करीना कपूर के ससुर भी लगते हैं। सैफ अली खान नवाब मंसूर अली खान पटौदी के इकलौते बेटे है। इस नवाबी संपत्ति के मालिक भी है।