चीन नहीं, पहले भारत का दौरा करेंगे नेपाली PM

 

काठमांडू(1 जनवरी) नेपाल के पीएम के.पी शर्मा ओली ने गुरुवार को संकेत दिया है कि प्रधानमंत्री के तौर पर उनकी पहली विदेश यात्रा चीन नहीं भारत की होगी। हाल के दिनों भारत से तनावपूर्ण रिश्तों के चलते नेपाल का झुकाव चीन की ओर बढ़ रहा है और ऐसी खबरें भी थीं कि ओली अपनी पहले विदेश दौरे पर चीन जा सकते हैं। लेकिन आंदोलनरत मधेशियों की मांगों के लिए संविधान में संशोधन को मंजूरी मिलने के बाद ही नेपाली पीएम विदेश यात्रा करेंगे। 

नेपाल में नए संविधान लागू होने के बाद से ही भारत और नेपाल के रिश्तों में खटास आई। नए संविधान से नाराज मधेशियों के आंदोलन के चलते पिछले साल अगस्त के बाद से संबंध में खटास आई। गुरुवार की सुबह पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से भारत आने के निमंत्रण को स्वीकार कर लिया। उन्होंने खुद पीएम मोदी को फोन किया था।  

मंगलवार को ही नेपाल के उप-प्रधानमंत्री कमल थापा ने ऐलान किया था कि ओली अपनी पहली विदेश यात्रा के तौर पर चीन का दौरा करेंगे। लेकिन काठमांडू के अधिकारियों ने कहा था कि ओली चीन के दौरे से पहले भारत की यात्रा करेंगे। 

ओली ने नरेंद्र मोदी को कैबिनेट की ओर से मधेशियों की मांगों को शामिल करने के लिए संविधान में संशोधन के बाद पैदा हुए राजनीतिक हालातों के बारे में जानकारी दी।