न्यूजीलैंड के कोच भी हुए कोहली के फैन, बोले- रौंद डाला

नई दिल्ली(10 अक्टूबर):  इंदौर में चल रहे न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने शानदार पारी खेलते हुए अपने करियर का दूसरा दोहरा शतक बनाया। पिछले कुछ मैचों से उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन ना कर सके कोहली ने 211 रन की बेजोड़ पारी खेली। उनकी इस पारी का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि विपक्षी टीम के कोच भी उनके मुरीद हो गए। 

न्यूजीलैंड के कोच माइक हेसन ने कहा कि विराट ने हमें बड़ी आसानी से रौंद दिया।  हेसन ने कहा कि हमारे बॉलर्स ने विराट और अजिंक्य रहाणे की पार्टनरशिप तोड़ने के लिए बहुत ज्यादा कोशिश की। लेकिन वो कामयाब नहीं हो सके।दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद हेसन ने कहा कि इस बात में कोई दो राय नहीं हो सकती है कि ये बहुत हाई क्वॉलिटी की बैटिंग थी। अच्छी बॉल्स पर भी रन बनाए गए। हमने अपने प्लान के मुताबिक सबकुछ करने की कोशिश की लेकिन नतीजे उस हिसाब से नहीं मिल पाए। 

हेसन ने आगे कह कि  कोहली की इनिंग को बयान करने का सबसे अच्छा तरीका ये है कि मैं कहूं, उन्होंने हमें बड़े आराम से रौंद कर रख दिया। हेसन ने कहा कि ये मुश्किल दिन था। लेकिन अच्छा भी रहा। हमारे फास्ट बॉलर्स ने 30 ओवर तक 135 और 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बाॅलिंग की। इस दौरान मैदान पर बहुत उमस और गर्मी थी। इसके बावजूद हमने उन्हें आसानी से रन नहीं बनाने दिए। मेरे हिसाब से यह हाई क्वॉलिटी टेस्ट क्रिकेट है। जब आप 100 ओवर तक लगातार बॉलिंग करें और विकेट ना मिलें तो ये हौसला कम कर देता है। लेकिन इसके बावजूद हमने बेहतर खेल दिखाया।

हेसन के मुताबिक, सोमवार को तीसरे दिन का खेल अहम हो सकता है। जिस तरह कोहली और रहाणे ने बैटिंग की उसी तरह से हमारे टॉप 7 बैट्समैन्स को बेहतर खेल दिखाना होगा। कोहली और रहाणे ने 365 रन की पार्टनरशिप की। हालांकि, रहाणे 12 रन से दोहरा शतक चूक गए। 

न्यूजीलैंड के कोच ने कहा विकेट अब भी काफी अच्छा है। कुछ जगह फुटमार्क्स हैं, जिनका फायदा इंडियन बॉलर्स उठा सकते हैं लेकिन कुल मिलाकर विकेट अच्छा नजर आ रहा है। मुझे उम्मीद है कि अंपायर्स विकेट को मेंटेन रखेंगे। हमें लंबे वक्त तक बैटिंग करनी होगी। 

हेसन ने कहा कि 100 रन पर तीन विकेट गिरने के बाद विराट और रहाणे ने जिस तरह की बैटिंग की, उसकी तारीफ की जानी चाहिए। खास तौर पर विराट ने। हमें रहाणे के खिलाफ कुछ मौके मिले जरूर लेकिन नतीजा वैसे नहीं हो सका जैसा हम चाहते थे।