अब ऑस्ट्रेलिया में दौड़ेगी भारत की मेट्रो ट्रेन

नई दिल्ली (13 अप्रैल): ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री को भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी ने मेट्रो में सफर कराया, जिसके बाद अब यह खबर आ रही है कि भारतीय मेट्रो ट्रेन अब ऑस्ट्रेलिया में दौड़ेंगी। इसके अलावा मिडिल ईस्ट और एशिया के कई और देशों में 'मेड इन इंडिया' मेट्रो चलेगी।


दरअसल भारत में प्लांट लगाकर मेट्रो का निर्माण करने वाली कंपनी अलस्टोम और बम्बार्डियर इंक ने अब यहीं से दूसरे देशों में भी मेट्रो निर्यात का फैसला किया है।


- भारत में अर्बन ट्रांसपोर्टेशन के बढ़ते बाजार को देखकर फ्रांस और कनाडा की इन मल्टीनैशनल कंपनियों ने 2008 और 2010 के बीच देश में मैन्युफैक्चरिंग और इंजीनियरिंग ऑपरेशंस की शुरुआत की। अब ये कंपनियां दूसरे देशों से मिल रहे ऑर्डर की पूर्ति भी भारत से ही करेंगी।

- अलस्टोम और बम्बार्डियर यहां के इंजिनियर्स और सस्ते कुशल श्रमिकों का इस्तेमाल करते हुए उसी तरह आगे बढ़ना चाहती हैं, जिस तरह फोर्ड और हुंडई मोटर्स जैसी कंपनियों ने देश को ऑटो हब बनाने में मदद की।

- अलस्टोम सिडनी के ऑर्डर को साउथ इंडिया में बने अपने मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स से पूरा करेगा। कंपनी मिडिल ईस्ट और साउथ ईस्ट एशिया पर भी फोकस कर रही है।

- बम्बार्डियर ने भारत में मैन्युफैक्चरिंग पर 33 मिलियन यूरो का निवेश किया है और इसके पास ऑस्ट्रेलिया के लिए 450 मेट्रो रेल कोच के अलावा ब्राजील, ऑस्ट्रेलिया और सऊदी अरब में पार्ट्स भेजने का ऑर्डर है।

- कंपनी मैन्यूफैक्चरिंग गुजरात में करती है और ट्रांसपॉर्टेशन-इंजिनियरिंग सर्विस सेंटर गुरुग्राम में है।