Blog single photo

शिवसेना के CM पर संशय के बादल, सोनिया से मिल बोले पवार- सरकार नहीं सियासी हालात पर चर्चा

महाराष्ट्र में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव के बाद भले राष्ट्रपति शासन लागू हो गया हो, लेकिन सरकार बनाने को लेकर गुफिया तरीके कवायद अभी भी जारी है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार सोमवार की शाम कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे। दोनों

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(18 नवंबर): महाराष्ट्र में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव के बाद भले राष्ट्रपति शासन लागू हो गया हो, लेकिन सरकार बनाने को लेकर गुफिया तरीके कवायद अभी भी जारी है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार सोमवार की शाम कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे। दोनों दलों के प्रमुखों के बीच यह बैठक करीब पचास मिनट तक चली। उसके बाद शरद पवार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि हमने महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति पर विस्तार से चर्चा की। मैंने उन्हें इस बारे में बताया। एके एंटनी में उनके साथ मौजूद थे। अब दोनों दलों के नेता आपस में मुलाकात करेंगे और उसके बाद वे हमारे पास आएंगे।

गौरतलब है कि शरद पवार की सोनिया गांधी से मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा था। इससे पहले, रविवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की कोर कमेटी की बैठक रविवार को हुई। एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि इस बैठक के बाद हम इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन खत्म होना चाहिए और एक वैकल्पिक सरकार बनाया जाना चाहिए।

नवाब मलिक ने आगे कहा- हमने यह तय किया है कि अगला फैसला कांग्रेस के साथ चर्चा के बाद लिया जाएगा। कल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पवार के बीच बैठक होगी। उसके एक दिन बाद यानि मंगलवार को दोनों दलों के नेताओं की मुलाकात होगी।

मुख्यमंत्री पद के बंटवारे को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच चली खींचतान के बाद एनसीपी, शिवसेना के साथ संभावित गठबंधन के लिए अपनी सहयोगी कांग्रेस के साथ बात कर रही है। मलिक ने कहा, ''हमने राज्य की मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की और हम इस नतीजे पर पहुंचे कि राष्ट्रपति शासन समाप्त होना चाहिए और एक वैकल्पिक सरकार का गठन किया जाना चाहिए।

Tags :

NEXT STORY
Top