इंदौर एक जीत के साथ टीम इंडिया के खाते में 7 अनोखे रिकॉर्ड दर्ज

नई दिल्ली (25 सितंबर): इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेले गए तीसरे एक दिवसीय मैच में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर मौजूदा श्रृंखला अपने नाम कर ली है। आइये डालते हैं एक नजर उन तमाम रिकॉर्डस पर जो आज की श्रृंखला जीत के बाद बने।

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने रविवार को खेले गए तीसरे एक दिवसीय मैच मैच में 62 गेंदों में 71 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। उन्होंने अपनी इस पारी से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया। वो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सार्वधिक 63 छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। हिटमैन के नाम से मशहूर रोहित ने न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैक्कलम (61 छक्के) के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। वहीं रोहित ने इस मैच में 42 गेंदों पर अपने एक दिवसीय मैच करियर का सर्वाधिक तेज अर्धशतक भी जड़ दिया। 2013 के बाद रोहित ने 113* छक्के जड़े हैं और सबसे शीर्ष पर हैं जबकि एबी डिविलयर्स ने 106, आयन मॉर्गन ने 100, मार्टिन गुप्टिल ने 96, जॉस बटलर/कोहली ने संयुक्त रूप से 74 और धोनी ने एक दिवसीय मैच में पिछले चार सालों में 70 छक्के जड़े हैं।

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 3-0 से हराकर 5 मैचों की श्रृंखला में 3-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में यह पहला मौका है जब भारत ने कंगारुओं के खिलाफ दो मैच शेष रहते ही सीरीज पर कब्जा जमा लिया है। हार्दिक पांड्या एक बार फिर अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर मैन ऑफ द मैच बने और कोहली ने उन्हें टीम इंडिया का नया स्टार बताया जो गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों में कमाल कर सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया ने इस हार के साथ ही घर से बाहर अपने अंतिम 13 में से एक भी एक दिवसीय मैच मैच नहीं जीत पाई है जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।

कोहली ने एक दिवसीय मैच में लगातार 9वीं जीत दर्ज कर धोनी की भी बराबरी कर ली है। 14 नवंबर 2008 से 5 फरवरी 2009 के बीच माही की कप्तानी में भारत ने लगातार 9 एक दिवसीय मैच जीते थे और अब कोहली की कप्तानी में जुलाई से लेकर अब तक 9 मैच जीते हैं। टीम इंडिया ने इस श्रृंखला पर कब्जा जमाते ही 6 लगातार एक दिवसीय मैच श्रृंखला जीत ली हैं। राहुल द्रविड़ की कप्तानी में साल 2007 में, धोनी की कप्तानी में 2007-09 के बीच और अब धोनी-विराट की संयुक्त कप्तानी में भारत ने जून 2016 से अब तक 6 एक दिवसीय श्रृंखला जीती हैं।

पहले 38 एक दिवसीय मैच में कप्तानी करने के बाद रिकी पोंटिंग ने 31 मैचों में जीत हासिल की, कोहली ने क्लाइव ल्यॉड और विव रिचर्ड्स की बराबरी करते हुए 30 मैचों में जीत हासिल कर ली है। दक्षिण अफ्रीका के हैंसी क्रोनिए और ऑस्ट्रेलिया के माइकल क्लार्क ने 28 मैचों में जीत हासिल की थी जबकि वकार युनूस ने 27 मैच जीते थे।

रविवार को खेले गए मैच में एक और शानदार रिकॉर्ड बना, लेग ब्रेक गेंदबाज युजवेंद्र चहल ने पिछले तीन मैचों में ग्लेन मैक्सवेल को तीनों बार अपनी फिरकी में फँसाकर आउट किया। टीम इंडिया ने सोची समझी रणनीति के तहत सिक्सर किंग को गेंदबाजी कर फंसाया। चेन्नई एक दिवसीय मैच में वो मनीष पांडे को कैच थमा बैठे थे जबकि कोलकाता और इंदौर एक दिवसीय मैच में धोनी ने उनकी गिल्लियां बिखेर दीं।

टीम इंडिया के लिए कुछ ही ऐसे मैदान हैं जो सबसे लकी रहे हैं। इंदौर उनमें से एक है जहां टीम इंडिया ने अब तक खेले सभी मैच जीते हैं। कटक के मैदान पर पिछले 10 सालों (2007-17) में भारत सबसे अधिक 6 लगातार एक दिवसीय मैच जीते हैं, कोलकाता में (1991-94) के बीच टीम इंडिया को सबसे अधिक 5 मैचों में लगातार जीत मिली और अब इंदौर के होल्कर स्टेडियम में (2006-17) पिछले 11 सालों में टीम इंडिया को किसी मैच में हार नहीं मिली है।