मोदी का जादू, कारोबारी माहौल की रैकिंग में भारत की लंबी छलांग

नई दिल्ली ( 31 अक्टूबर ): मोदी सरकार के आने के बाद से भारत में कारोबार करने के माहौल में बड़ा सुधार देखने को मिला है। दुनिया में कारोबार करने में आसानी को लेकर भारत 30 पायदान उछलकर 100वें स्थान पर आ गया हैं। 

विश्व बैंक के ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में भारत ने 30 पायदान झलांग लगाते हुए 100वें स्थान पर पहुंच गया है। इस इंडेक्स में 190 देशों को शामिल किया है। विश्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में आर्थिक माहौल में सुधार करने वाले शीर्ष 10 देशों में भारत को जगह मिली है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिजनस रैंकिंग में पिछले साल हम 130वें स्थान पर थे, इस साल हम 30 स्थानों की छलांग लगाकर 100वें स्थान पर आ गए हैं। साथ ही जेटली ने कहा कि वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक, ईज ऑफ पेइंग टैक्स में हम 53 स्थानों की छलांग लगाकर 119वें स्थान पर आ गए हैं।  

 उन्होंने बताया, 'हमने स्थिति में सुधार किया है। टैक्स देने में हम 172वें स्थान पर थे, टैक्स सुधारों के कारण अब हमने इसमें 53 अंकों की छलांग लगाई है। इन्सॉल्वंसी को निपटाने के मामले में 33 स्थान की छलांग लगाकर भारत 103वें नंबर पर पहुंचा है। कुछ और सुधारों का असर आने वाले साल में दिखने लगेगा। हम अपनी स्थिति में लगातार सुधार करेंगे। कंस्ट्रक्शन परमिट के मामले में हम 181वें स्थान पर हैं, हमने 8 अंको की छलांग लगाई है।' गौरतलब है कि इन्सॉल्वंसी और बैंकरप्सी कोड, 2016 के जरिए सरकार ने एक बड़ा सुधार किया, जिसे पिछले साल की रैंकिंग में जगह नहीं मिल पाई थी।

जेटली ने बताया, 'कॉन्ट्रैक्ट लागू करने के मामले में अभी और सुधार होने की उम्मीद हैं। रजिस्ट्रेशन ऑफ प्रॉपर्टी में भारत 154वें स्थान पर पहुंचा है। ट्रेडिंग अक्रॉस बॉर्डर आदि क्षेत्रों को ऑनलाइन किया जा रहा है। इन क्षेत्रों में काफी काम किया जा रहा, आने वाले कुछ महीनों में इसका परिणाम दिखने लगेगा। हम ईज ऑफ डूइंग बिजनस में 50वें स्थान पर पहुंचने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं।'

बता दें कि कुल 190 देशों में भारत पिछली साल की रैंकिंग में 130वें स्थान पर था। मोदी सरकार को उम्मीद थी कि जीएसटी के लागू होनेे के बाद इस रैंकिंग में सुधार आएगा और हुआ भी वैसा ही।

वित्त मंत्री ने कहा कि भारत बेहतर करने वाले टॉप 10 देशों में शामिल है। वित्त मंत्री ने अलग-अलग क्षेत्रों में भारत के प्रदर्शन के बारे में भी जानकारी दी। उन्होने बताया, 'छोटे शेयरधारकों की सुरक्षा के मामले में चौथे स्थान पर पहुंच गया है। बिजनस के लिए क्रेडिट उपलब्ध कराने के मामले में भारत को 29वां स्थान मिला है, वहीं बिजनस के लिए इलेक्ट्रिसिटी कनेक्शन दिए जाने के मामले में भारत की रैंकिंग 29वीं है। जबकि टैक्स भरने में भारत की रैकिंग 119वें स्थान पर पहुंची है।