चीन के खिलाफ इस मुद्दे पर भारत को मिला अमेरिका-जापान का साथ

नई दिल्ली(19 सितंबर): चीन के 'वन बेल्ट, वन रोड' प्रोजेक्ट को लेकर भारत, जापान और अमेरिका ने चिंता जताई है। भारत पहले से इस पर चिंतित था, अब जापान और अमेरिका भी उसके साथ आ गए हैं।

-  तीनों देशों ने एक सुर में चीन के ओबीओआर को लेकर जताई गई चिंताओं का समाधान करने की मांग की है। साफ कहा गया कि चीन की इस पहल से संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को नुकसान नहीं पहुंचना चाहिए। 

- विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस समय अमेरिका के दौरे पर हैं। विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा से इतर उन्होंने अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन और जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो के साथ त्रिपक्षीय वार्ता की। 

- इस दौरान समुद्री सुरक्षा, कनेक्टिविटी समेत कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की गई। इससे पहले इंडो-जापान समिट में इंडो-पसिफ़िक क्षेत्र में कानून के पालन पर जोर दिया था। 

- अमेरिका और जापान चाहते हैं कि उत्तर कोरिया पर यूएन प्रतिबंधों को पूर्ण रूप से लागू करने के लिए भारत और बड़ी व अर्थपूर्ण भूमिका निभाए। ऐसे में सुषमा स्वराज ने उत्तर कोरिया की निंदा करते हुए कहा कि उसके संबंधों का पता लगाया जाना चाहिए और जिम्मेदार लोगों को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए।