जापान और भारत की नजदीकी पर भड़का चीन

नई दिल्ली(14 सितंबर): भारत को कम कीमत पर खोज एवं बचाव विमान बेचने की जापान की योजना की खबरों पर चीन ने नाराजगी जाहिर की है। चीन ने कहा है कि यदि इसका मकसद विवादित दक्षिण चीन सागर मुद्दे पर उस पर दबाव डालने का है तो वह ऐसे कदम को 'शर्मनाक' मानेगा।

- चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने मंगलवार को कहा, 'मैंने इस खबर पर गौर किया। हमें रक्षा सहयोग सहित दो देशों के बीच सामान्य सहयोग पर कोई ऐतराज नहीं है।' उन्होंने कहा, 'लेकिन यदि यह खबर सही है कि कोई गलत कदम उठा रहा है तो यह बहुत शर्मनाक है.।' वह उन रिपोर्ट्स पर पूछे गए एक सवाल का जवाब दे रही थीं, जिसमें कहा गया था कि जापान 1.6 अरब डॉलर की कीमत के शिनमायवा यूएस 2 प्लस विमान भारत को कम कीमत पर बेच रहा है ताकि भारत के साथ रक्षा सहयोग को मजबूत किया जा सके। यह खोज एवं बचाव कार्य में इस्तेमाल किया जाने वाला विमान है।

- उन्होंने कहा, ''लेकिन अगर खबरों में कही गई यह बात सच है कि जापान सरकार भारत को हथियार बेचने के लिए उनकी कीमत कम कर रही है ताकि दक्षिण चीन सागर के मुद्दे पर चीन पर दबाव बनाया जा सके और ऐसा प्रयास चीन को निशाना बनाने के लिए है तो हमें नहीं लगता कि इस सहयोग का मकसद ठीक है।'

- बता दें कि हाल ही में जापानी रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से खबर आई कि जापान भारत के साथ यह सौदा किसी फायदे के लिए नहीं कर रहा है। इसकी वजह यह है कि जापान भारत को अपने मजबूत साझीदार और मित्र देश के तौर पर देखता है।