भारत की पाक को दो टूक, हमारे मामलों में टांग अड़ानी बंद करो

नई दिल्ली (15 जुलाई): आतंकी बुरहान वानी को शहीद बताने और  19 जुलाई को पाकिस्तान नें काला दिवस मनाने के ऐलान पर भारत ने कहा कि पाकिस्तान की इस हरकत से यह साफ हो गया है कि वो एलओसी और बॉर्डर पर घुसपैठ और आतंक फैलाने की योजना बना रहा है। भारत ने पाकिस्तान के ऐलान पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया भी दी है, और कहा है कि उसे भारत के आंतरिक मामलों में दखल का कोई अधिकार नहीं है। 

पाकिस्तान की करतूत पर भारत का करारा जवाबः 

- भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है। - भारत अपने आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने के पाकिस्तान के लगातार प्रयासों से निराश।  - पाकिस्तान या किसी अन्य बाहरी पक्ष को दखल देने का कोई अधिकार नहीं है। - भारत ने कहा कि प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों से संबंधित आतंकवादियों का लगातार गुणगान करने से यह पूरी तरह स्पष्ट हो जाता है कि पाकिस्तान की सहानुभूति कहां है।  - भारत ने पाकिस्तानको चेतावनी दी कि आतंकवादियों और अन्य विध्वंसक गतिविधियों का समर्थन कर दक्षिण एशिया में अस्थिरता पैदा करने से बाज आए।