इजरायली वायुसेना के साथ पहली बार संयुक्त युद्ध अभ्यास में शामिल होगा भारत

नई दिल्ली (1 नवंबर): भारत और इजराइल के बीच दोस्ती का रंग दिखने लगा है। भारतीय वायुसेना पहली बार इजराइली वायुसेना के साथ संयुक्त युद्ध अभ्यास करने जा रही है। गुरुवार से इजरायल में गुरुवार से शुरू हो रहे “ब्लू फ्लैग-17’ में भारतीय वायुसेना का 45 सदस्यों का दल हिस्सा लेगा। इस संयुक्त युद्ध अभ्यास में भारत, इजरायल के अलावा अमेरिका, फ्रांस और जर्मनी की सेनाएं शामिल होंगी। 

इस संयुक्त एरियल ड्रिल में भारतीय वायुसेना का सी-130जे स्पेशल ऑपरेशनल एयरक्रॉफ्ट गरुण कमांडो के साथ शामिल होगा। इजरायल के उवदा एयरफोर्स बेस में 2 नवंबर से 16 नवंबर तक यह युद्ध अभ्यास चलेगा। इसे इतिहास के सबसे बड़े और जटिल संयुक्त युद्ध अभ्यास में से एक बताया जा रहा है। 

ब्लूफ्लैग-17’ युद्धाभ्यास में पाकिस्तान और चीन भी शामिल होना चाहते थे, लेकिन उन्हें इजाजत नहीं दी गई। इसकी वजह यह है कि इजरायल में पाकिस्तानियों के घुसने पर बैन है। दूसरा यह कि इस युद्धाभ्यास की मंशा से चीन और पाकिस्तान की मंशा मेल नहीं खाती है। दूसरी ओर, इजरायली कमांडर ने उधमपुर में नार्दर्न कमांड हेडक्वार्टर का दौरा किया।