Blog single photo

भारत LoC लगाने जा रहा है कि अदृष्य दिवार

भारत ने पाकिस्तान से सटे सीमा यानी LoC पर खड़ी की अदृश्य दीवार खड़ी कर दी है। भारत के इस कदम से अब पाकिस्तान आसनी से अपनी आतंकियों को सीमा पर नहीं करा सकेगा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (17 सितंबर): भारत ने पाकिस्तान से सटे सीमा यानी LoC पर खड़ी की अदृश्य दीवार खड़ी कर दी है। भारत के इस कदम से अब पाकिस्तान आसनी से अपनी आतंकियों को सीमा पर नहीं करा सकेगा। दरअसल भारत ने जम्मू में LoC के दो हिस्सों में अपनी तरह का यह पहला हाई-टेक सर्विलांस सिस्टम तैयार किया गया है। इसकी मदद से जमीन, पानी और हवा में एक अदृश्य इलेक्ट्रॉनिक बैरियर होगा, जिससे सीमा सुरक्षा बल (BSF) को घुसपैठियों को पहचानने और मुश्किल इलाकों में घुसपैठ रोकने में मदद मिलेगी।केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह आज जम्मू में इसके दो पायलट प्रॉजेक्ट्स को लॉन्च करेंगे। एक प्रॉजेक्ट के तहत जम्मू के 5.5 किमी का बॉर्डर कवर होगा। इस प्रणाली को कॉम्प्रिहेन्शिव इंटिग्रेटेड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम (CIBMS) नाम दिया गया है।CIBMS के तहत कई आधुनिक सर्विलांस टेक्नॉलजी का इस्तेमाल किया जाएगा। इसमें थर्मल इमेजर, इन्फ्रा-रेड और लेजर बेस्ड इंट्रूडर अलार्म की सुविधा होगी, जिसकी मदद से एक अदृश्य जमीनी बाड़, हवाई निगरानी के लिए एयरशिप, नायाब ग्राउंड सेंसर लगा होगा जो घुसपैठियों की किसी भी हरकत को भांप कर सुरक्षा बलों को सूचित कर देगा।बताया जा रहा है कि कि भारत में इंटिग्रेटेड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम पर आधारित यह वर्चुअल फेंस अपनी तरह का पहला प्रयोग है। अधिकारी ने कहा कि CIBMS को ऐसे इलाकों की सुरक्षा के लिए डिजाइन किया गया है जहां फिजिकल सर्विलांस संभव नहीं है, वह चाहे जमीनी इलाके के कारण हो या नदी वाले बॉर्डर। तकनीकी सपॉर्ट मिलने से सुरक्षा बलों की ताकत और बढ़ जाएगी। दरअसल मानव संसाधान, हथियारों और हाईटेक सर्विलांस उपकरणों के साथ मिलने से सीमा की सुरक्षा अभेद्य हो जाएगी।सीमा पर आज से काम करेगी देश की पहली 'स्मार्ट फेंस' देश में पहली बार लेजर एक्टिव फेंस लगाई गई है। सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह जम्मू क्षेत्र में पाकिस्तान से लगी सीमा पर 5 किलोमीटर के दो क्षेत्रों में 'स्मार्ट फेंस' पायलट परियोजना का उद्घाटन करेंगे। जम्मू में अपनी तरह का यह पहला हाईटेक सर्विलांस सिस्टम तैयार किया गया है। इसकी मदद से जमीन, पानी और हवा में एक अदृश्य इलेक्ट्रानिक बैरियर होगा, जिससे सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को घुसपैठियों को पहचानने और मुश्किल इलाकों में घुसपैठ रोकने में मदद मिलेगी।

Tags :

NEXT STORY
Top