खुशखबरीः भारत में कम हुई बेईमानी- करप्शन वॉच की रिपोर्ट

नई दिल्ली (26 जनवरी): ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल के भ्रष्टाचार सूचकांक 2016 में भारत की रैंकिंग में थोड़ी सुधार हुई है। विश्व के सबसे कम भ्रष्ट देशों में न्यूजीलैंड और डेनमार्क को संयुक्त रूप से शीर्ष पर रखा गया है। सूचकांक में भारत, चीन और ब्राजील को 40-40 अंक मिले हैं। 2015 में भारत को 38 अंक मिले थे। न्यूजीलैंड और डेनमार्क को 90-90 अंक दिए गए हैं। इसके बाद फिनलैंड, नार्वे, सिंगापुर, नीदरलैंड और कनाडा का स्थान है। सबसे भ्रष्ट को शून्य और सबसे साफ-सुथरे देश को 100 अंक दिए जाते हैं। यह भी पढ़ें- पनामा पेपर्स में शरीफ को मिल सकता है समन सूचकांक में सोमालिया को सबसे भ्रष्ट देश बताया गया है। सीरिया, दक्षिण सूडान, उत्तर कोरिया, अफगानिस्तान और इराक कम अंक पाने वाले अन्य देश हैं। इसमें 176 देशों को शामिल किया गया था। सूची तैयार करने के लिए ट्रांसपेरेंसी ने विश्व बैंक, विश्व आर्थिक मंच और अन्य वैश्विक संस्थानों के डाटा का इस्तेमाल किया।