#Pathankot: पाकिस्तान को सौंपे सबूत, गडकरी बोले- ईट का जवाब पत्थर से देंगे

नई दिल्ली (5 जनवरी): एक तरफ ऑपरेशन पठानकोट जारी है वहीं दूसरी ओर भारत ने इस हमले से जुड़े तमाम सबूत पाकिस्तान को सौंप दिए हैं और 72 घंटे के भीतर कार्रवाई करने के लिए कहा है...केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने तो एक कार्यक्रम में पाकिस्तान को कड़े शब्दों में चेतावनी भी दे दी और साफ कह दिया कि हम ईट का जवाब पत्थर से देंगे।

डोभाल ने पाकिस्तान को सौंपे सबूत एनएसए अजीत डोभाल ने पाकिस्तान को हमले के वक्त आतंकियों की बातचीत की का पूरा रिकॉर्ड, पाकिस्तान का वो नंबर जिसपर आतंकियों ने फोन किया और उनके बॉर्डर क्रॉस करने के तमाम सबूत सौंपे हैं। इन सबूतों के सौंपे जाने के बाद पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी किया और तमाम सुरागों पर काम करने की बात कही है।

ये होगा अंजाम जानकारी के मुताबिक अगर भारत के सबूत पर पाकिस्तान 72 घंटे के अंदर कोई ठोस कार्रवाई नहीं करता तो भारत-पाकिस्तान के बीच पंद्रह जनवरी से होने वाली विदेश सचिव स्तर की बातचीत भी रोकी जा सकती है।

जेटली कुछ भी कहने से बचते रहे हालांकि केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने वार्ता रद्द होने के सवाल पर ऑपरेशन जारी रहने तक कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। लेकिन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और पूर्व गृह सचिव आर के सिंह ने ऐसे माहौल में बातचीत पर ऐतराज जताया है। नितिन गडकरी ने तो एक कार्यक्रम में पाकिस्तान का नाम लेकर कड़े शब्दों में हमला किया।

गडकरी ने कहा- जरूरत पड़ने पर ईट का जवाब पत्थर से देंगे गडकरी ने कहा कि पाकिस्तान दोस्ती की पहल से हमें कमजोर ना समझे, जरूरत पड़ने पर ईट का जवाब पत्थर से दिया जाएगा। वहीं आरके सिंह ने हमले के पीछे पाकिस्तान आर्मी और आईएसआई के हाथ होने की बात साफ साफ कही है।

पाकिस्तान को पहले भी सबूत दे चुका है भारत देश में हमले को लेकर पहले भी पाकिस्तान को कई सबूत सौंपे जा चुके हैं। चाहे 26/11 का मामला हो या सीमापार से हो रही लगातार फायरिंग का। लेकिन हर बार पाकिस्तान कोई न कोई बहाना कर सबूतों पर गोलमोल जवाब देता है। लेकिन पठानकोट हमले पर पाकिस्तान को जवाब देना ही पड़ेगा नहीं तो पटरी पर आ रही दोस्ती का एक और मौका वो गवा देगा।