भारत-इंग्लैंड के बीच हुए इस टेस्ट मैच पर लगे फिक्सिंग के आरोप!

नई दिल्ली (8 फरवरी): यह यह खबर सच निकली तो भारतीय क्रिकेट में एक बड़ा भूचाल आ सकता है, क्‍योंकि भारत और इंग्लैंड के बीच वर्ष 2014 में मैनचेस्टर में खेला गया टेस्ट मैच फिक्स होने की बात को टीम इंडिया के मैनेजर रहे सुनील देव ने स्‍वीकार है।

एक समाचार पत्र द्वारा किए गए स्टिंग ऑपरेशन में उस इंग्लैंड दौरे पर टीम इंडिया के मैनेजर रहे सुनील देव ने इस मैच के फिक्स होने की बात को स्वीकारा है। स्टिंग ऑपरेशन में देव कहते दिख रहे हैं कि बरसात के चलते जो पिच की परिस्थिति थी, उसे देखते हुए टीम मीटिंग में हमने टॉस जीतने पर पहले गेंदबाजी का फैसला किया था, लेकिन जब कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी पहले बल्लेबाजी का फैसला किया तो हमें काफी हैरानी हुई।

इस वीडियो में देव ने यह भी कहा है कि पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर ज्यॉफ्री बॉयकॉट भी धोनी के इस फैसले से हैरान थे। देव ने यह भी कहा कि उन्होंने इस मुद्दे को लेकर बीसीसीआई के तत्कालीन अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन को खत भी लिखा था। लेकिन बोर्ड की ओर से इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई।

क्या हुआ था मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी और शीर्ष चार बल्लेबाज (मुरली, गंभीर, पुजारा, कोहली) महज आठ रन के कुल योग पर पैवेलियन लौट आए। इनमें से तीन का खाता भी नहीं खुला। मध्यक्रम में एमएस धोनी ने 71 रन की पारी खेलकर टीम को शर्मनाक स्थिति में पहुंचने से बचाया। अश्विन (40) और रहाणे (24) दहाई का आंकड़ा छूने वाले अन्य दो बल्लेबाज रहे। कुल छह खिलाड़ी खाता नहीं खोल सके और टीम पहली पारी में 46.4 ओवर में 152 रन पर सिमट गई।

इंग्लैंड ने जवाब में इयान बेल (58) और जो रूट (70) की अर्धशतकीय पारियों की मदद से 367 का मजबूत स्कोर बनाया। दूसरी पारी खेलने उतरी भारतीय टीम 43 ओवर में केवल 161 रन पर सिमट गई और मैच पारी व 54 रन से गंवा दिया। दूसरी पारी में अश्विन नाबाद 46 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे। दूसरे शीर्ष स्कोरर धोनी ने 22 गेंदों पर 27 रन की पारी खेली।