इस शख्स की वजह से पांड्या है स्टार ऑलराउंडर

नई दिल्ली(4 नवंबर):  ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या को पहली बार टेस्ट टीम में शामिल किया गया है। पंड्या ने T20I और ODI क्रिकेट में प्रभावी प्रदर्शन किया जिसकी बदौलत उन्हें टेस्ट टीम में स्टुअर्ट बिनी और ऋषि धवन पर तरजीह दी गई। ऐसे में यह सवाल उठना लाजमी है कि आखिर पंड्या की इस कामयाबी के पीछे किसका हाथ है। इस बात का खुलासा खुद पंड्या ने किया है।

पंड्या ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई दौरे के दौरान भारत-ए के कोच राहुल द्रविड़ के मार्गदर्शन ने उन्हें 'मानसिक रुप से मजबूत' बनाया। हार्दिक ने कहा, 'मेरे लिए, भारत-ए टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया के मेरे दौरे के बाद सारी चीजें बदल गईं। इस दौरे ने बतौर क्रिकेटर मुझे काफी बदल दिया। मैं राहुल द्रविड़ के योगदान के लिए उनका आभार व्यक्त करता हूं। मैं समझता हूं कि खेल के बारे में मानसिक पहलू हैं जिन पर काम किये जाने की जरूरत है। द्रविड़ सर ने मुझे मानसिक रूप से मजबूत बनाया।'

उन्होंने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि मैंने उन डेढ़ महीनों में राहुल सर की अगुवाई में जो कुछ सीखा, उससे कहीं ज्यादा मैंने कहीं और से सीखीं हैं। वह मुझे बताते थे कि मुझे किन चीजों की कोशिश करनी चाहिए। मैं मानसिक रूप से मजबूत था लेकिन उनसे बात करने के बाद मैं सीख गया कि मैं इससे भी बेहतर हो सकता हूं। अगर आज मेरी गेंदबाजी की बात हो रही हे तो यह राहुल सर और भारत-ए के गेंदबाजी कोच पारस महाम्ब्रे की वजह से ही है।'