Blog single photo

भीषण और जानलेवा गर्म हवाओं की चपेट में आ सकता है भारत: रिपोर्ट

जलवायु परिवर्तन पर दुनिया की सबसे बड़ी समीक्षा रिपोर्ट में भारत के लिए एक बड़ी और चिंतित करने वाली चेतावनी जारी की गई है। दरअसल इसमें बताया गया है कि यदि दुनिया का तापमान 2 डिग्री सेल्सियस बढ़ता है तो भारत को 2015 की तरह जानलेवा गर्म हवाओं का सामना करना पड़ सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब 2015 में इन भयंकर गर्म हवाओं ने भारत में कहर बरपाया था तो उस दौरान तकरीबन 2,500 लोग मारे गए थे।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (8 अक्टूबर): जलवायु परिवर्तन पर दुनिया की सबसे बड़ी समीक्षा रिपोर्ट में भारत के लिए एक बड़ी और चिंतित करने वाली चेतावनी जारी की गई है। दरअसल इसमें बताया गया है कि यदि दुनिया का तापमान 2 डिग्री सेल्सियस बढ़ता है तो भारत को 2015 की तरह जानलेवा गर्म हवाओं का सामना करना पड़ सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब 2015 में इन भयंकर गर्म हवाओं ने भारत में कहर बरपाया था तो उस दौरान तकरीबन 2,500 लोग मारे गए थे।यह रिपोर्ट सोमवार को क्लाइमेट चेंज पर इंटरगवर्नमेंटल पैनल (IPCC) की ओर से जारी की जाएगी। यूके स्थित क्लाइमेट साइंस वेबसाइट CarbonBrief द्वारा की गई एक स्टडी के अनुसार भारत के चार बड़े मेट्रोज- दिल्ली, मुंबई, चेन्नै और कोलकाता का औसत तापमान पिछले 147 वर्षों के दौरान एक डिग्री या इससे ज्यादा बढ़ा है।आपको बता दें कि इस साल दिसंबर में पोलेंड में क्लाइमेंट चेंज पर होने जा रही बैठक में रिपोर्ट के अनुमानों पर चर्चा होगी। यहां सरकारें क्लाइमेट चेंज को रोकने के लिए पेरिस अग्रीमेंट की समीक्षा भी करेंगी। सबसे बड़े कार्बन उत्सर्जक देशों में होने की वजह से भारत इस ग्लोबल इवेंट में अहम किरदार निभा सकता है।मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से आ रही खबरों के मुताबिक तापमान में वृद्धि को लेकर खतरे की घंटी बजाते हुए रिपोर्ट में कहा गया है कि औसत वैश्विक तापमान 2030 तक 1.5 डिग्री (प्री-इंडिस्ट्रियल लेवल से अधिक) के स्तर तक पहुंच सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है, 'यदि तापमान इसी रफ्तार से बढ़ता रहा तो ग्लोबल वॉर्मिंग 2030 से 2052 के बीच 1.5 डिग्री सेल्यिस तक बढ़ सकता है।

Tags :

NEXT STORY
Top