भारत नेपाल के विकास के लिए सभी क्षेत्रों में करेगा निवेश

नई दिल्ली (3 मार्च): वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि भारत नेपाल के पनबिजली व सिंचाई सहित मुख्य क्षेत्रों में निवेश को प्रतिबद्ध है। इसके साथ ही वह नेपाल को अपने रेल नेटवर्क से जोडऩा चाहेगा।जेटली काठमाण्डु में आयोजित दो दिवसीय नेपाल शिखर सम्मेलन में मुख्य वक्ता थे। उन्होंने कहा, ‘लोगों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार तथा रोजगार सृजन के लिए निवेश बहुत महत्वपूर्ण है।’ उन्होंने कहा कि भारत ने 1991 में आर्थिक उदारीकरण की नीति अपनाई और 26 साल बाद वह इसका फायदा उच्च आर्थिक वृद्धि के रूप में उठा रहा है। जेटली ने कहा, ‘नेपाल की मेहनती जनता व सरकार का सकारात्मक नीति ढांचा यहां निवेश के लिए बड़ा अवसर है।’

वित्त मंत्री ने कहा कि नेपाल की वृद्धि की संभावनाओं में भारत भागीदारी करना चाहता है और वह पनबिजली, सिंचाई, स्वास्थ्य व शिक्षा क्षेत्रों, पारेषण लाइनों, सडक़ों व पुलों आदि में निवेश करने का इच्छुक है। नेपाल को भारत के रेल नेटवर्क से जोडऩे के बारे में जेटली की टिप्पणी बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि पिछले महीने रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने यहां की अपनी यात्रा के दौरान कहा था कि भारत, नेपाल की राजधानी को रेल नेटवर्क के जरिए नयी दिल्ली व कोलकाता से जोडऩा चाहता है।