भारत ने साधा चीन पर निशाना, मसूद को आतंकी घोषित नहीं करना खतरनाक संदेश

नई दिल्ली (6 अक्टूबर): मसूद अजहर को आतंकवादी ना घोषित करने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि भारत की ओर से संयुक्त राष्ट्र को यह स्पष्ट कर दिया गया है कि अगर आतंकी संगठन जैश के आका मसूद अजहर को आतंकवादी घोषित नहीं किया गया तो इससे दुनिया भर में खतरनाक संदेश जाएगा।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा कि हमने यूएन को इस बारे में जानकारी दी है। इसी के साथ उन्होंने कहा कि अजहर के पीछे चीन है, देखते हैं कि चीन पाकिस्तान के भी पीछे खड़ा हो रहा है। विकास स्वरुप ने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद को संयुक्त राष्ट्र ने प्रतिबंधित घोषित किया है लेकिन उसके प्रमुख मसूद अजहर को नहीं। स्वरुप ने आगे कहा कि अच्छे और बुरे आतंकवाद में फर्क नहीं किया जा सकता है।

विकास स्वरुप ने कहा कि मसूद अजहर को आतंकवादी घोषित करने की भारत की मांग को 14 देशों का समर्थन मिला हुआ है, सिर्फ एक देश (चीन) है जो इस पर रोक लगवा रहा है। विकास स्वरुप ने ब्रह्मपुत्र नदी के पानी रोकने को लेकर कहा कि चीन के साथ अगली मीटिंग में ब्रह्मपुत्र डैम पर चर्चा की जाएगी।