चीन को पछाड़ भारत बना नेपाल का बड़ा 'मददगार'


नई दिल्ली(10 मई): भारत  चीन को पछाड़कर नेपाल को आर्थिक मदद पहुंचाने में शीर्ष 5 स्थान में काबिज हो गया है। चीन पिछले साल नेपाल को आधिकारिक विकास सहायता प्रदत्त करने वाले देशों की सूची में चौथे स्थान पर काबिज था जबकि भारत टॉप 5 की लिस्ट से बाहर हो गया था।



- नेपाल सरकार की ऑफिशल डिवेलपमेंट असिस्टन्स रिपोर्ट में भारत नेपाल को आर्थिक मदद देने वाले देशों में यूएस, यूके, जापान और स्विटजरलैंड के बाद चौथे स्थान पर है। वित्तीय वर्ष 2014-15 में पहली बार नेपाल को आर्थिक मदद देने वाले शीर्ष 5 देशों में भी भारत का नाम नहीं था।


- ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने 16 जुलाई 2015 से जुलाई 2016 के बीच नेपाल को 35 मिलियन डॉलर की आर्थिक मदद की। नेपाल को कुल आर्थिक मदद में भारत की हिस्सेदारी 3.33 प्रतिशत रही जबकि चीन की 3.29 प्रतिशत हिस्सेदारी रही।


- चीन ने वित्तीय वर्ष 2014-15 में नेपाल को 37.95 मिलियन डॉलर दिया जबकि भारत की तरफ से 22 मिलियन डॉलर नेपाल सरकार के ओडीए को मुहैया कराया गया था। इस दौरान भारत की तरफ से नेपाल को मिलने वाली मदद में 50 फीसद से ज्यादा की गिरावट आई थी।