डोकलाम विवाद पर चालबाज चीन की नई चाल

नई दिल्ली(6 अगस्त): भारत चीन के बीच डोकलाम में जारी तनाव में अब नया मोड़ आ गया है। चीन ने अब इस मुद्दे पर नेपाल के पास पहुंचने का फैसला किया है। 

- सूत्रों के मुताबिक चीन के डिप्टी चीफ मिशन ने नेपाल में अपने समकक्ष के डोकलाम मुद्दे पर चर्चा की है।

- चीन का यह फैसला भारत की चिंताएं बढ़ाने वाला है क्योंकि भारत, नेपाल के साथ भी विवादित क्षेत्र में ट्राइ-जंक्‍शन साझा करता है। 

- दूसरा कारण है यह है कि बीते कुछ समय से भारत अपने पड़ोसी देश नेपाल में प्रभाव बढ़ाने के लिए संघर्ष कर रहा है। 

- चीन इस बात पर अड़ा है कि भारत के साथ सार्थक वार्ता करने के लिए पहले उसे डोकलाम क्षेत्र से अपने सैनिकों को पीछे हटाना पड़ेगा। चीनी राजनयिकों ने इसी तरह की कई बैठकें नेपाल के अधिकारियों के साथ नेपाल और बीजिंग में की हैं। 

- नेपाल, चीन और भारत के साथ दो ट्राइ-जंक्शन साझा करता है, जिसमें पहला पश्चिमी नेपाल के लिपुलेख में और पूर्वी नेपाल के झिनसांग चुली में है।  कालापानी विवादित क्षेत्र में स्थित लिपुलेख हमेशा से नेपाल की असुरक्षा की वजह रहा है। इस हिस्से पर भारत और नेपाल दोनों ही अपना-अपना हक