आतंकी मसूद अजहर पर चीन से भारत करेगा रणनीतिक बातचीत

नई दिल्ली (16 फरवरी): आतंकी अजहर मसूद पर यूएन में बैन को लेकर चीन हर वक्त भारत की पहल को रोकता रहा है। लिहाजा इस मुद्दे को लेकर भारत चीन से अब दो टूक बातचीत करने की तैयारी में है। दरअसल भारत और चीन के बीच पेइचिंग में 22 फरवरी को पहली रणनीतिक वार्ता होने जा रही है। इस रणनीतिक वार्ता में भारत और चीन 'द्विपक्षीय महत्व और हितों' से जुड़े मुद्दों के अलावा मसूद अजहर और एनएसजी जैसे टकराव के मुद्दों पर भी बातचीत करेंगे।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने गुरुवार को कहा कि विदेश सचिव एस जयशंकर और चीन के एग्जिक्युटिव वाइस-चेयरमैन हांग येसुई की सह-अध्यक्षता में होने वाली बैठक में द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय दायरे में आने वाले आपसी मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि आगामी रणनीतिक वार्ता एक ज्यादा व्यापक मंच है। उन्होंने कहा कि एक नई व्यवस्था है है जिसे शुरू करने का फैसला पिछले साल चीन के विदेश मंत्री वांग यी के भारत दौरे के दौरान रखा गया था।

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र में पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करवाने की भारत की कोशिशों में चीन अड़ंगा लगाता आया है। इसके चलते दोनों देशों के संबंधों में तनाव पैदा होता रहा है।